इराक में अगस्त में 804 लोग मारे गये, संयुक्त राष्ट्र चिंतित

  • इराक में अगस्त में 804 लोग मारे गये, संयुक्त राष्ट्र चिंतित
You Are HereInternational News
Monday, September 02, 2013-3:03 AM

बगदादः संयुक्त राष्ट्र ने इराक में बढ़ रही हिंसक घटनाओं की कडी निंदा करते हुए आज कहा कि अगस्त में वहां 804 लोग मारे गये और ऐसी हिंसा तो वर्ष 2008 में भी नहीं देखी गई थी।

संयुक्त राष्ट्र द्वारा जारी आंकडों के अनुसार अगस्त में मारे गए 804 लोगों में से अधिकतर आम नागरिक थे। इसी माह हुई हिंसक घटनाओं में दो हजार से अधिक लोग घायल भी हुए। कुख्यात आतंकवादी संगठन अलकायदा की इराक इकाई द्वारा की गई गोलीबारी और बम से किये गये हमलों में ये नागरिक मारे गये या घायल हुए।

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट के अनुसार हालांकि जुलाई में मारे गए लोगों की संख्या अगस्त से ज्यादा थी। जुलाई में हिंसक घटनाओं में 1057 मारे गये गये थे जो 2008 से लेकर अब तक सबसे अधिक थी। इराक में 2006 एवं 2007 में हिंसा अपने चरम पर थी जब प्रति माह हिंसक घटनाओं में मारे जाने वाले लोगों की संख्या तीन हजार से अधिक हो गई थी।

संयुक्त राष्ट्र के इराक के सहायक मिशन के बयान के अनुसार 2013 की शुरुआत से अब तक लगभग पांच हजार नागरिक मारे जा चुके हैं और 12 हजार घायल हुये हैं। अगस्त माह में राजधानी बगदाद सबसे ज्यादा हिंसा से प्रभावित रही। वर्ष 2008 के बाद से हिंसक घटनाओं में कमी आई थी और तेल से अर्जित राजस्व में वृद्धि हुई थी।

इससे वहां की अर्थव्यवस्था में सुधार आया था। लेकिन 18 महीने पहले अमेरिकी सैन्य बलों के इराक से वापस चले जाने से वहां बम से होने वाले हमलों में तेजी आई है। सीरिया की हिंसक घटनाओं और इराक में राजनीतिक तनाव बढने से उग्रवादियों के हौसलें बुलंद हुए हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You