हत्या,हिंसा के आरोपों का सामना करेंगे मुर्सी

  • हत्या,हिंसा के आरोपों का सामना करेंगे मुर्सी
You Are HereInternational
Monday, September 02, 2013-11:51 AM

काहिरा: मिस्र के अपदस्थ राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी को अब आपराधिक मामलों की सुनवाई से जूझना पडेगा सेना समर्थित अंतरिम सरकार ने कल मुर्सी पर हिंसा को भडकाने और हिंसा को बढावा देने, हत्या एवं धोखाधडी की घटनाओं को अंजाम देने जैसे गंभीर आरोप लगाते हुए काहिरा अपराध न्यायालय में मुकदमा दर्ज करने का फैसला किया।

सरकारी वकील हेशाम बरक्कत ने बताया कि अपदस्थ राष्ट्रपति मुर्सी और उनकी पार्टी मुस्लिम ब्रदरहुड के 14 समर्थक नेताओं पर पिछले वर्ष राष्ट्रपति भवन के बाहर हिंसा को भडकाने का आरोप है। इस हिंसा में कई लोग मारे गए थे। मिस्र की सरकार ने पूर्ववर्ती राष्ट्रपति होस्नी मुबारक के शासनकाल के दौरान मुर्सी के जेल से भागने की घटना की जांच कराने का फैसला भी किया है।

उन पर इसी मामले में फिलीस्तीनी संगठन हमास के सदस्यों के साथ मिलकर हत्या करने और जेल से फरार होने का षडयंत्र रचने का भी आरोप है। सेना ने मुर्सी को तीन जुलाई को अपदस्थ कर दिया था। सेना के इस कदम से राष्ट्रपति के समर्थक और पार्टी मुस्लिम ब्रदरहुड के सदस्यों ने पूरे मिस्र में हिंसक विरोध प्रदर्शन किए थे। सेना और मुस्लिम ब्रदरहुड के समर्थकों के बीच हिंसक गतिरोध और संघर्ष के दौरान 100 सुरक्षाकर्मियों सहित हजारों लोग मारे जा चुके हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You