जी-20 से पहले सीरिया मुद्दे पर बिसातें बिछीं

  • जी-20 से पहले सीरिया मुद्दे पर बिसातें बिछीं
You Are HereInternational
Thursday, September 05, 2013-5:16 PM

सेंट पीटर्सबर्ग: रूस के सेंट पीटर्सबर्ग में आज सें शुरू हुए समूह-20 ‘जी-20’ शिखर सम्मेलन से पहले सीरिया पर संभावित अमेरिकी हमले को लेकर विभिन्न देशों ने बिसातें बिछानी शुरू कर दीं हैं। अमेरिका और उसके सहयोगी देश जहां हमले की भूमिका तैयार करते नजर आएं, वहीं सैन्य कार्रवाई का विरोध कर रहे रूस और चीन ने विरोध के अपने सुर तेज कर दिए हैं।

इसी क्रम में चीन ने रूस का समर्थन करते हुए आज आगाह किया कि सीरिया में सैन्य हस्तक्षेप से तेल की कीमतें बढेंगी तथा विश्व अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचेंगा। चीन के वित्त मंत्री झू गुआनब्याओ ने समूह-20 ‘जी-20’ की बैठक शुरू होने से पहले प्रेस ब्रीङ्क्षफग में कहा कि सैन्य कार्रवाई का वैश्विक अर्थव्यवस्था खासकर तेल की कीमतों पर नकारात्मक असर पडेगा।

उधर, चीन की राजधानी बीजिंग में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हांग लेई ने एक बार फिर कहा कि जो भी पक्ष रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल करता है उसे इसकी जिम्मेदारी लेनी होगी लेकिन एकतरफा सैन्य कार्रवाई अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन होगा तथा इससे स्थितियां और जटिल होंगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You