इंटरनेट पर कूट भाषाओं को समझने के लिए सुपरकंप्यूटर की मदद

  • इंटरनेट पर कूट भाषाओं को समझने के लिए सुपरकंप्यूटर की मदद
You Are HereInternational
Friday, September 06, 2013-11:33 AM

वाशिंगटन: अमेरिका की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) ऑनलाइन निजता मुहैया करने के लिए तैयार की गई कूट भाषाओं को सुपरकंप्यूटरों की मदद से पढ़ रही है।

अमेरिका और ब्रिटेन की मीडिया में आई खबरों के मुताबिक व्हिसलब्लोअर (भंडाफोड़ करने वाले) एडवर्ड स्नोडेन ने जिन गोपनीय दस्तावेजों को लीक किया है, उनसे पता चलता है कि एनएसए ने ऐसी ढेरों कूट भाषाओं का तिलिस्म तोड़ दिया है जो वैश्विक वाणिज्य और बैंकिंग प्रणाली में इस्तेमाल हो रही हैं, जो व्यापार के बारे में गहरे राज छिपाए हुए हैं और मेडिकल रिकार्ड, इंटरनेट चैट तथा फोन कॉल से संबंधित हैं। इस तरह की खबरें द गार्जियन, द न्यूयार्क टाइम्स और प्रो पब्लिका में आई हैं।

खबरों में बताया है कि ये गोपनीय दस्तावेज इस बात का खुलासा करते हैं कि इंटरनेट पर किसी तरह का डाटा जासूसी निगाहों से सुरक्षित नहीं है जिनमें सरकारी डाटा भी शामिल है। एनएसए ने कूट भाषाओं को पढऩे के लिए सुपरफास्ट कंप्यूटर लगा रखे हैं और अमेरिका तथा विदेशों में प्रौद्योगिकी कंपनियों से सहयोग शुरू किया है ताकि उनके उत्पादों में सेंध लगाने के प्रवेश द्वार बनाए जा सकें। हालांकि दस्तावेजों में उन कंपनियों की पहचान नहीं की गई है जो इनमें शामिल हैं।

खुफिया अधिकारियों ने मीडिया से इन आलेखों को प्रकाशित नहीं करने का अनुरोध करते हुए तर्क दिया कि इससे विदेश स्थित लक्ष्य नयी कूट भाषाएं अपना सकते हैं जिन्हें संग्रह करना या पढऩा मुश्किल होगा। बहरहाल, समाचार संगठनों ने कुछ विशेष तथ्य हटा दिए लेकिन आलेख प्रकाशित किए हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You