2020 तक तंबाकू सेवन से मरने वाला हर पांचवा व्यक्ति भारतीय होगा

  • 2020 तक तंबाकू सेवन से मरने वाला हर पांचवा व्यक्ति भारतीय होगा
You Are HereInternational
Thursday, September 12, 2013-8:51 PM

लंदन : भारत की साढे 27 करोड आबादी को तंबाकू की लत है जिसकी वजह से यहां हर साल लाखों लोगों की मौत होती है लेकिन फिर भी तंबाकू खाने वाले 94 प्रतिशत से अधिक लोगों ने अपने ऊपर मौत के मंडराते साये को देखते हुये भी इसे छोडने के बारे में कभी सोचा ही नहीं है। अंतरराष्ट्रीय तंबाकू नियंत्रण परियोजना (आईटीसीपी) की आज प्रकाशित हुई रिपोर्ट के मुताबिक भारत में तंबाकू के बढते दुष्प्रभाव को देखते हुये इस पर रोकथाम लगाने की सख्त जरूरत है और भारत ऐसे पहले देशों ने शामिल है जिसने 2003 में तबाकू नियंत्रण विधेयक लागू किया लेकिन यह विधेयक तंबाकू के इस्तेमाल को कम करने और लोगों कासे तंबाकू छोडने के लिये जागरूक करने में असफल साबित हो रहा है।

रिपोर्ट के मुताबिक तंबाकू नियंत्रण पर भारत ने वैश्विक संधि की है और तंबाकू विरोधी कई तरह के कानून और धूम्रपान संबंधी कई कानून बनाये हैं लेकिन वह इसे ठीक से लागू नहीं कर पा रहा है जिससे वहां की बडी आबादी बीमार होने के साथ ही और मौत के कगार पर खडी हो रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के आंकडे बताते हैं कि भारत की कुल आबादी 1.2 अरब है और इनमें से 27 करोड 25 लाख लोग तंबाकू का सेवन करते हैं। वर्ष 2020 तक यहां तंबाकू से मरने वाले लोगों की संख्या बढकर 15 लाख हो जायेगी जबकि पूरी दुनिया में तंबाकू के कारण मरने वाले तब तक मौजूदा 60 लाख से बढकर 80 लाख हो जायेंगे। इसका अर्थ यह है कि 2020 तक तंबाकू के सेवन के कारण पूरी दुनिया में मरने वाले लोगों में से हर पांचवा व्यक्ति भारतीय होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You