बातचीत के साथ-साथ सीरियाई विद्रोहियों को हथियार दे रहा है अमेरिकाः रिपोर्ट

  • बातचीत के साथ-साथ सीरियाई विद्रोहियों को हथियार दे रहा है अमेरिकाः रिपोर्ट
You Are HereInternational
Friday, September 13, 2013-1:20 AM

वाशिंगटन: सीरिया संकट के कूटनीतिक समाधान के लिए एक ओर जहां ओबामा प्रशासन ने रूस के साथ बातचीत शुरू की है, वहीं अमेरिकी खुफिया एजेंसी सीईए ने असद सरकार के खिलाफ विपक्षी हथियारबंद समूहों को मजबूत करने की अमेरिकी योजना के तहत सीरिया में विद्रोहियों को हथियार मुहैया कराना शुरू कर दिया है।

अमेरिकी अखबार वाशिंगटन पोस्ट में आज छपी एक खबर में बताया गया है कि विदेश विभाग द्वारा वाहनों और दूसरे साजो सामान की आपूर्ति के साथ ही पिछले दो सप्ताह से हथियार भी भेजे जा रहे हैं। अमेरिका का यह कदम सीरियाई गृह युद्ध में उसकी बढ़ती भूमिका को दर्शाता है।

इसमें बताया गया है कि हथियारों के यह जखीरा हल्के हथियार और पता लगाए जा सकने वाले दूसरे असलहों तक ही सीमित है। इसके साथ ही इसमें बताया गया है कि अमेरिका विद्रोहियों के लिए नए किस्म के गैरघातक हथियार भी भेज रहा है।

इस दैनिक समाचार में बताया गया है कि इसमें वाहन, अतिआधुनिक संचार उपकरण और उन्नत चिकित्सा किट शामिल है। अमेरिकी अधिकारियों को उम्मीद है कि इस कदम से असद सरकार के खिलाफ पिछले दो वर्ष से भी अधिक समय लड़ सीरियाई विद्रोहियों का पलड़ा भारी हो जाएगा।

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कल प्रसारित अपने संबोधिन में देशवासियों से कहा था कि दमिश्क को उसके रासायनिक हथियार त्यागने से जुड़े रूसी पहल के अध्ययन के क्रम में वह सीरिया के खिलाफ सैन्य कार्रवाई को स्थगित कर रहे हैं और इसके एक दिन बाद ही इस बहु प्रतिक्षित सैन्य सहायता की यह रिपोर्ट सामने आई है।

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जे कार्ने ने बताया कि अमेरिका ने सीरियाई विद्रोहियों को अपनी सहायता बढ़ा दी है। एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा, ‘मैं यह कहना चाहता हूं कि यह प्रशासन, अमेरिकी सरकार सीरियाई विपक्ष का समर्थन करती है और उन्हें सहायता देती आई है और वह इसे जारी भी रखेगी।’

सीरियाई विपक्षी समूह के प्रवक्ता खालिद शाह ने अमेरिका से मिल रही सैन्य सहायता में हुई वृद्धि का स्वागत किया है, लेकिन साथ ही यह भी साफ किया कि असद समर्थक सेना और विद्रोहियों के बीच जारी गृह युद्ध का रख बदलने के लिए यह काफी नहीं है।

उन्होंने वाशिंगटन पोस्ट से कहा कि सीरियाई सैन्य परिषद को जो सहायता मिल रही है, वह इतनी कम है कि उसे बस राहत सामग्री ही कहा जा सकता है। अगर आप असद सरकार को ईरान और रूस से मिल सहायता से इसकी तुलना करेंगे, तो हमे आगे काफी लंबी लड़ाई लड़नी होगी।

इस बीच, अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी सीरियाई संकट के समाधान पर अपने रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव से बात करने जिनेवा के लिए रवाना हुए हैं। व्हाइट हाउस ने कहा कि इस कूटनीतिक प्रक्रिया में कुछ समय लगेगा और ओबामा प्रशासन ने इसके लिए कोई समय सीमा निर्धारित नहीं की है। (एजेंसी)
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You