भारत सरकार ने ब्रिटिश अधिकारियों को गुमराह किया: रामदेव

You Are HereNational
Sunday, September 22, 2013-4:20 PM

लंदन: ब्रिटेन के हीथ्रो हवाई अड्डे पर सीमा शुल्क विभाग द्वारा करीब छह घंटे तक रोके जाने के एक दिन बाद कल बाबा रामदेव से दूसरे चरण की पूछताछ की गई तथा इसके बाद उन्हें जाने की अनुमति दे दी गई। उधर रामदेव ने संदेह प्रकट किया है कि भारत सरकार ने ब्रिटिश अधिकारियों को गुमराह किया होगा जिसकी वजह से उन्हें कल छह घंटे तक रोककर रखा गया।

ब्रिटिश आव्रजन अधिकारियों ने रामदेव को जाने दिया और ब्रिटेन में अपना कार्यक्रम करने की अनुमति दी लेकिन रामदेव ने कहा कि उन्हें कल रोके जाने की कोई वजह नहीं बताई गई।  सूत्रों के अनुसार हवाई अड्डे के अधिकारियों की दूसरे दिन की पूछताछ उनके कारोबारी वीजा की बजाय यात्री वीजा पर सफर करने के संबंध में थी। यहां पहुंचने पर छह घंटे तक रोके जाने के एक दिन बाद रामदेव आज शाम हीथ्रो हवाई अड्डे पर भारतीय मूल के सांसद कीथ वाज के साथ मुख्य आव्रजन अधिकारी से मिलने पहुंचे। बाद में आव्रजन अधिकारी ने रामदेव को ब्रिटेन में वैध रूप से प्रवेश करने तथा अपने कार्यक्रम करने की इजाजत दे दी।

 रामदेव ने कहा कि उन्हें भारत सरकार से कोई सहयोग नहीं मिला और उन्हें रोके जाने के पीछे भारत सरकार का हाथ हो सकता है।  रामदेव ने कहा,‘‘मुझे दुख के साथ कहना पड़ रहा है कि मेरी सरकार ने मेरा साथ नहीं दिया। मुझे बताया गया कि मेरे नाम पर रेड अलर्ट है जो केवल आतंकवादियों और अपराधियों से ही जुड़ा होता है। मैं पूरे विवरण की प्रतीक्षा करूंगा, मुझे शक है कि जो कुछ भी हुआ है वह ब्रिटिश अधिकारियों को भारत सरकार द्वारा गुमराह किये जाने का परिणाम है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘भारत सरकार ने शायद इस पूरे प्रकरण में खलनायक की भूमिका निभायी हो लेकिन ब्रिटेन के प्रवासी समुदाय और कीथ वाज मेरे साथ खड़े रहे। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘मैं ब्रिटिश सरकार को धन्यवाद देता हूं कि वह अधिक समय में झांसे में नहीं रही। ’’

 रामदेव ने कहा, ‘‘मैंने अपने जीवन में कुछ भी गलत या गैरकानूनी नहीं किया है। मैंने उनसे रोके रखने का बार बार कारण पूछा लेकिन उन्होंने मुझसे कहा कि वे यह मुझे नहीं बता सकते।’’

रामदेव ब्रिटेन में पतंजलि योग पीठ (यूके) ट्रस्ट की ओर से आयोजित योग शिविर और परिचर्चा की अध्यक्षता करने के लिए यहां आए हैं।  वाज ने कहा कि वह रामदेव बाबा से घंटों तक पूछताछ की वजह का और पता लगायेंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘वैध वीजा पर यात्रा कर रहे किसी भी भारतीय को इस तरह रोका नहीं जाना चाहिए। मैं आशा करता हूं कि इससे बाबा रामदेव फिर ब्रिटेन आना नहीं छोड़ेंगे। अब उनके सारे सामान और पासपोर्ट उन्हें लौटा दिए गए हैं। ’’

 ब्रिटेन के गृह विभाग ने आव्रजन के मुद्दों को लेकर किसी व्यक्ति विशेष से पूछताछ किए जाने पर टिप्पणी करने से इंकार कर दिया। रामदेव के प्रवक्ता एसके तिजारावाला ने कहा, ‘‘यह अभी स्पष्ट नहीं है कि योगगुरू को हीथ्रो हवाई अड्डे पर छह घंटे तक क्यों रोका गया। उनके पास एक निजी थैले के अलावा कुछ नहीं था। यह ब्रिटिश अधिकारियों को स्पष्ट करना है कि उन्हें क्यों रोका गया।’’

रामदेव को रोके जाने की भाजपा ने आलोचना करते हुए केंद्र से हस्तक्षेप करने का आग्रह किया। भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने योग गुरू को रोके जाने को ‘‘गंभीर’’ मुद्दा बताया और केंद्र सरकार से कहा कि वह मामले पर संज्ञान ले।

लंदन में होने वाले रामदेव के एक कार्यक्रम को स्थगित कर दिया गया। वह  स्वामी विवेकानंद की 150वीं जयंती पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करने वाले थे। यह कार्यक्रम दक्षिणपूर्वी लंदन के लैम्पटन पार्क कांफ्रेंस में आयोजित होने वाला था।  उनके साथ कार्यक्रम में भाजपा नेता एम वेंकैया नायडू और ब्रिटिश मंत्री बैरोनेस संदीप वर्मा भी शामिल होने वाले थे।  इसके बाद कल रामेदव को ‘द फ्यूचर ऑफ इंडिया-थ्रू द आइज ऑफ ऐन एनआरआई’ नामक कार्यक्रम को संबोधित था। इसमें पाकिस्तानी किशोरी मलाला युसूफजई के भी शामिल होने की उम्मीद थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You