कैंसर के बावजूद लंबा जीना है तो कीजिए विवाह

  • कैंसर के बावजूद लंबा जीना है तो कीजिए विवाह
You Are HereInternational
Tuesday, September 24, 2013-2:40 PM

बोस्टन:  विवाहितों को एक दूसरे के साथ से होने वाले फायदों से तो हम सभी वाकिफ हैं लेकिन अब कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी के इलाज में विवाह के प्रभावी उपचार के रूप में उभरने की पुष्टि हुई है। अमेरिकी अनुसंधानकर्ताओं के अनुसार कैंसर के वो मरीज जो इलाज के समय विवाहित होते हैं वे अविवाहित मरीजों की तुलना में ज्यादा समय तक जीवित रहते हैं। अध्ययन में पाया गया कि वास्तव में कुछ कैंसर रोगों से बचाव में कीमोथेरेपी की अपेक्षा विवाहित होना ज्यादा प्रभावकारी साबित होता है।

इस अध्ययन के प्रमुख अनुसंधानकर्ता बोस्टन के हावर्ड मेडिकल स्कूल के डाक्टर एयल आइजर ने कहा कि विवाहित मरीजों में इसकी
शुरूआती चरण में ही पहचान होने से रोग का समय रहते उचित इलाज हो जाता है, जो मरीजों को जीवन प्रत्याशा बढाने में सहायक होता है। उन्होंने कहा कि अध्ययन से यह पहली बार पता चला है कि कैंसर के प्रमुख प्ररूपों जैसे फेंफडे ,स्तन, अग्नाशय,प्रोस्टेट ,लीवर, सिर,
गरदन ओवेरियन और भोजन नलिका रोगियों के लंबे समय तक जीवित रहने में विवाह कैसे फायदेमंद साबित होता है।

श्री आइजर ने कहा कि संभवत विवाह के कारण मिलने वाली सामाजिक मदद ही लोगों के लिए इस बीमारी से उबरने में मददगार साबित होती है। अध्ययन के परिणाम बताते है कि जो मरीज विवाहित नहीं है, उन्हें बीमारी का पता चलने पर सुधार के लिए दोस्तो की मदद लेनी चाहिए और डाक्टरों से भी लगातार संपर्क करना चाहिए।
    


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You