जलवायु परिवर्तन के लिए दोषी इंसान

  • जलवायु परिवर्तन के लिए दोषी इंसान
You Are HereInternational
Tuesday, September 24, 2013-3:11 PM

स्टाकहोम:  संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों के दल ने अपनी  रिपोर्ट में कहा है कि जलवायु परिवर्तन तथा मौसम में गर्मी आने के लिए 95 प्रतिशत जिम्मेदार इंसान है और अगर दुनिया के विभिन्न देशों की सरकारों ने इस दिशा में कड़े सुधारात्मक कदम नहीं उठाए तो और अधिक खराब मौसम का सामना करना पड़ सकता  है। मौसम में आ रहे परिवर्तन पर विचार के लिए स्टाकहोम में विश्व के 110 देशों के विशेषज्ञों तथा अधिकारियों की चार दिन की बैठक शुरू हुई।

बैठक के समक्ष मौसम में आ रहे परिवर्तन के बारे में 31 पृष्ठों का मसविदा रखा गया है। समिति मसविदे पर विचार कर अपनी रिपोर्ट को अंतिम रूप देगी। संयुक्त राष्ट्र के विशेषज्ञों के पैनल के अध्यक्ष राजेन्द्र पचौरी ने बैठक के प्रारंभ में कहा कि पैनल ने अपने प्रस्तावित दस्तावेज में बहुत ही सामान्य ढंग से स्थिति की गंभीरता की ओर दुनिया का ध्यान आकृष्ट किया है। हम समझते हैं कि अन्तर्राष्ट्रीय जगत इसे समझेगा और स्थिति में सुधार के लिए आवश्यक कदम उठायेगा। जलवायु परिवर्तन से हमारा जीवन बदल जायेगा। इससे आॢथक स्थिति में भी बदलाव आयेगा।
      



 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You