भारत-अमेरिका संबंधों को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए : अमेरिकी सांसद

  • भारत-अमेरिका संबंधों को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए : अमेरिकी सांसद
You Are HereInternational
Saturday, September 28, 2013-4:16 PM

वाशिंगटन: अमेरिका के एक प्रभावशाली रिपब्लिकन सांसद ने ओबामा प्रशासन को आगाह किया है कि भारत-अमेरिका सांझेदारी को हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए। उन्होंने दोनों पक्षों से और अधिक प्रतिबद्धता दिखाने का आह्वान किया। कांग्रेस सदस्य एड रॉयस ने कल कहा, ‘‘मेरे भारत दौरे पर प्रधानमंत्री सिंह ने मुझसे कहा था कि अमेरिका-भारत संबंधों में वृद्धि अपरिवर्तनीय है। मुझे इस संबंध को अग्रिम मोर्चे पर लाने, ऐतिहासिक असैन्य परमाणु करार को प्रबंधित करने में मदद करने को लेकर गर्व है, लेकिन यह ऐसी भागीदारी नहीं है जिसे प्रशासन हल्के में ले।’’

रॉयस का बयान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के बीच कल व्हाइट हाउस में हुई तीसरी शिखर बैठक के बाद आया है। उन्होंने कहा, ‘‘हमें भारत के प्रति एक गहन प्रतिबद्धता की आवश्यकता है । भारत को भी कठिन कार्य करने की जरूरत है ।’’ प्रतिनिधि सभा में इंडिया कॉकस के पूर्व सह अध्यक्ष रॉयस वर्तमान में विदेश मामलों की शक्तिशाली सदन समिति के अध्यक्ष हैं ।


 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You