मैं दिन में 18 से 24 घंटे तक काम करता हूं: रामदेव

  • मैं दिन में 18 से 24 घंटे तक काम करता हूं: रामदेव
You Are HereInternational
Sunday, September 29, 2013-4:24 PM

शिकागो: योग गुरु बाबा रामदेव शिकागो में विश्व धर्म संसद में दिए गए स्वामी विवेकानंद के प्रसिद्ध भाषण की 120वीं वर्षगांठ मनाने के लिए आज यहां आए। रामदेव ने शिकागो के आर्ट इंस्टीट्यूट के फुलरटन हॉल में ज्योति प्रज्जवलित की और स्वामी विवेकानंद को याद किया। विवेकानंद ने शिकागो में 1893 में इसी मंच से भाषण दिया था। रामदेव ने कहा, ‘’ मुझे लगता है कि यह संदेश आज भी उतना ही प्रासंगिक है जितना यह 120 वर्ष पहले था।’’  आर्ट इंस्टीट्यूट समारोह के बाद रामदेव बार्टलेट के जैन मंदिर में गए। उन्होंने कहा, ‘‘ मैंने दूसरों की सेवा के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया है। मैं दिन में 18 से 24 घंटे तक काम करता हूं।’’

रामदेव ने सभी हिंदुओं से एक होने का आह्वान किया। विश्व धर्म संसद परिषद (सीपीडब्ल्यूआर) ने खुद को इस समारोह से अलग कर लिया था। इस बारे में रामदेव ने कहा कि यदि वह सभी धर्मों को समान रूप से नहीं देखता है तो उसे सीपीडब्ल्यूआर क्यों कहा जाता है। उन्होंने कहा कि सभी धर्मों को समान रूप में देखा जाना चाहिए अन्यथा उसे केवल एक ही धर्म का संगठन बना दो। जैन मंदिर में रामदेव ने लोगों से उठने, आगे बढने और उम्मीद तथा दृढ संकल्प रखने का आह्वान किया। रामदेव ने कहा, ‘‘ व्यक्ति को प्रत्येक मनुष्य में भगवान को देखना चाहिए। मनुष्यता सबसे बड़ा धर्म है। गरीबी, अज्ञानता और शक्ति के बीच स्वामी विवेकानंद का संदेश आज और भी अधिक महत्व रखता है।’’

 रामदेव कहा, ‘‘ हमें एक ऐसे भारत का निर्माण करना होगा जिसका सपना स्वामी विवेकानंद ने देखा था।’’ रामदेव ने कहा, ‘‘ स्वामी विवेकानंद ने कहा था कि उठो और अपनी मंजिल मिलने तक चलना जारी रखो। उम्मीद ही जीवन है और निराशा मौत है। जोश और उत्साह का इस्तेमाल करो। अंधकार होने पर हमेशा सोचो कि बुरे दिन चले जाएंगे और अच्छे दिन आएंगे।’’  उन्होंने कहा, ‘‘ इस समय भारत में अंधकार है और विश्व में असुरक्षा है लेकिन हमें उम्मीद और विश्वास के बीज बोने होंगे। हमें इंसान में भगवान को देखना होगा और मनुष्यता की सेवा करनी होगी। स्वामी विवेकानंद ने हमें यही शिक्षा दी थी।’’
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You