अब पिता कर सकेगा गोद ली बच्ची के साथ शादी

  • अब पिता कर सकेगा गोद ली बच्ची के साथ शादी
You Are HereInternational
Monday, September 30, 2013-5:34 PM

लंदन: ईरान की संसद ने एक ऐसा बिल पास कर दिया है, जिस अनुसार कोई भी पुरुष अपनी गोद सी हुई बेटी के साथ विवाह कर सकता है। इसके लिए सिर्फ एक ही शर्त है कि गोद के लिए हुई बेटी की उम्र 13 सालों की होनी चाहिए। ईरान की संसद का दावा है कि इस क्रांतिकारी फ़ैसले के बाद बच्चों के अधिकारों की रक्षा हो सकेगी।

संसद के इस फ़ैसले के बाद मानवीय आधिकारियों के कार्यकर्ताओं ने रोष प्रकट किया है कि इसके साथ बच्चों का शोषण ओर बढ़ेगा क्योंकि परिवार के प्रमुख पुरुष को अदालत में सिर्फ यही सिद्ध करना पड़ेगा कि अपनी गोद के लिए हुई बेटी के साथ वह उसकी भलाई के लिए ही विवाह कर रहा है। लड़कों के मामलों में यह उम्र 15 सालों की है। सिर्फ इतना ही नहीं, ईरान में 13 सालों से कम उम्र की बच्चियों का भी विवाह किया जा सकता है। इसके लिए उसके माता-पिता को सिर्फ एक जज के सामने अर्जी दायर करके कारण बताते हुए आज्ञा लेनी पड़ती है।

ईरान की एक न्यूज वैबसाईट की अनुसार साल 2010 में ही 10 से 14 सालों की उम्र में 42 हज़ार बच्चों का विवाह किया गया। बच्चों के अधिकारों की रक्षा के नाम पर पास किये गए इस बिल ने अभी ईरान की गार्डीयन काउंसिल के पास से पास होना है, जिसके बाद यह कानून बन जायेगा। इस बिल का विरोध करते हुए लंदन स्थित ग्रुप जस्टिस फार ईरान की कार्य कर दिया सादी सदर ने कहा है कि ईरान का सभ्याचार अपने ही बच्चों के साथ विवाह करने की आज्ञा नहीं देता।

दूसरी तरफ़ ईरान के अधिकारी यौन शोषण के पहलू की तरफ ध्यान भी नहीं दे रहे हैं। उनका मानना है कि इस बिल का उद्देश्य गोद ली हुई बच्चियों को घर में लाज पहनने से मुक्ति दिलाना है। वास्तव में ईरान में यह कानून है कि गोद के लिए हुई बेटी को अपने पिता के सामने लाज पहनना पड़ता है, जबकि गोद लिए हुए बेटे, जिसकी उम्र बालिग़ों की श्रेणी में आती है, उसके सामने उस की मां को लाज पहनना पड़ता है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You