भारत चाहता है बेल्जियम का समर्थन : प्रणब

  • भारत चाहता है बेल्जियम का समर्थन : प्रणब
You Are HereNational
Thursday, October 03, 2013-8:01 PM

ब्रसेल्स : बेल्जियम के दौरे पर पहुंचे राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने गुरुवार को भारत के प्रति बेल्जियम के निरंतर कूटनीतिक समर्थन की सराहना की और उम्मीद जताई कि उसका समर्थन भारत को चार शस्त्र नियंत्रण संस्थाओं का पूर्ण सदस्य बनने में सक्षम होने तक जारी रहेगा।

एकमांट पैलेस में औपचारिक स्वागत समारोह के शीघ्र बाद बेल्जियम के प्रधानमंत्री इलियो डी रुपो के साथ प्रतिनिधिमंडल स्तर की वार्ता में प्रणब मुखर्जी ने यह टिप्पणी की। मुखर्जी ने कहा कि बेल्जियम अंतर्राष्ट्रीय संस्थाओं में भारत का हमेशा करीबी समर्थक रहा है और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थाई सदस्यता के भारत के दावे के समर्थन के लिए उसका धन्यवाद किया।

राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘मैं यह भी स्वीकार करना चाहूंगा कि बेल्जियम के समर्थन ने परमाणु आपूर्ति समूह (एनएसजी) में भारत को एक अपवाद बनने में मदद की और हमको असैनिक परमाणु ऊर्जा के अंतर्राष्ट्रीय सहयोग के क्षेत्र में प्रवेश करने में सक्षम बनाया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि बेल्जियम चार हथियार नियंत्रण संस्थाओं-परमाणु आपूर्ति समूह, मिसाइल प्रौद्योगिकी नियंत्रण समूह,वासेनार व्यवस्था और आस्टे्रलिया समूह में शामिल होने में भारत का समर्थन जारी रखेगा।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You