29 नवंबर को सेवानिवृत्त हो जाऊंगाः कयानी

  • 29 नवंबर को सेवानिवृत्त हो जाऊंगाः कयानी
You Are HereInternational
Sunday, October 06, 2013-11:45 PM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल अश्फाक परवेज कयानी ने अपने भविष्य को लेकर अटकलों पर विराम लगाते हुए रविवार को घोषणा की कि वह और विस्तार नहीं लेने जा रहे हैं और पूर्व निर्धारित समय 29 नवम्बर को सेवानिवृत्त हो जाएंगे।

कयानी ने एक बयान में कहा, ‘मेरा कार्यकाल 29 नवम्बर को समाप्त हो रहा है। उस दिन मैं सेवानिवृत्त हो जाऊंगा। अल्लाह हम सभी की मदद करे और रास्ता दिखाये।’ वर्ष 2007 के अंत में पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ ने कयानी को सेना प्रमुख नियुक्त किया था। उन्हें तत्कालीन प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी ने वर्ष 2010 में अभूतपूर्व से तीन वर्ष का सेवा विस्तार प्रदान कर दिया था।

कयानी ने एक चौंकाने वाली घोषणा में कहा कि संस्थान और परंपराएं व्यक्तियों से बड़ी होती हैं उसे तरजीह मिलनी चाहिए। उन्होंने लोकतंत्र को सैन्य समर्थन भी जताया। उन्होंने कहा, ‘कुछ समय से मेरी वर्तमान जिम्मेदारियों और भविष्य की संभावनाओं को लेकर मीडिया में चर्चा जोरों पर है। इस दौरान सभी तरह की अफवाह और अटकलें लगायी गईं। कुछ खबरों में मुझे नई जिम्मेदारियां सौंपने के विषय का भी उल्लेख किया गया था।’

61 वर्षीय कयानी ने कहा कि वह राजनीतिक नेतृत्व और देश के प्रति आभारी हैं कि उसने उनमें और पाकिस्तानी सेना में देश के इतिहास के इस महत्वपूर्ण मोड़ पर भरोसा जताया। कयानी ने कहा, ‘यद्यपि मैं यह आम जनधारणा को साझा करना चाहता हूं कि संस्थान और परंपराएं व्यक्तियों से मजबूत हैं और उसे तरजीह मिलनी चाहिए।’ कयानी ने कहा कि ऐसे में जब वह अपना कार्यकाल पूरा करेंगे जनता की इच्छा स्थापित हो चुकी है और एक संवैधानिक व्यवस्था लागू है।

उन्होंने कहा, ‘पाकिस्तानी सशस्त्र बल पूरा समर्थन करते हैं और वे इस लोकतांत्रिक व्यवस्था को मजबूती प्रदान करना चाहते हैं। पाकिस्तानी सेना ने पूर्ण स्पष्टता से इस इच्छित उद्देश्य के प्रति अपना योगदान दिया।’ कयानी ने कहा, ‘उन्होंने कई मौकों पर अपने अमूल्य बलिदान से यह साबित किया है कि पाकिस्तान की रक्षा और समृद्धि ही उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है।’

खबरों में कहा गया है कि सेना प्रमुख के पद के लिए वरिष्ठता के आधार पर सबसे आगे लेफ्टिनेंट जनरल हारून असलम हैं जो कि वर्तमान समय में लाजिस्टिक स्टाफ के प्रमुख हैं। कयानी के सेवानिवृत्त होने पर असलम सबसे वरिष्ठ जनरल होंगे। सेना प्रमुख के पद के लिए अन्य दो जनरलों में चीफ आफ जनरल स्टाफ लफ्टिनेंट जनरल राशिद महमूद और जनरल रहील शरीफ हैं। इनके बाद मंगला में एक स्ट्राइक कोर के कमांडर लेफ्टिनेंट तारिक खान और आईएसआई प्रमुख लेफ्टिनेंट जहीर उल इस्लाम हैं। (एजेंसी)


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You