मलाला ने कहा, इस्लाम के खिलाफ है लोगों को मारना

  • मलाला ने कहा, इस्लाम के खिलाफ है लोगों को मारना
You Are HereInternational
Tuesday, October 08, 2013-10:34 AM

लंदन: नोबेल शांति पुरस्कार के विजेता की दौड़ में शामिल हुई सामाजिक कार्यकर्ता मलाला यूसुफजई ने कहा है कि आगे बढऩे का एकमात्र रास्ता उग्रवादियों के साथ शांति से बात करना ही है। 16 वर्षीय मलाला ने यह कहा कि बातचीत से ही समस्याएं सुलझाने और युद्ध के खिलाफ जंग छेडऩे का सर्वश्रेष्ठ रास्ता निकलेगा।
 
उन्होंने कहा कि यह कार्य सरकार का और यह अमेरिका का भी है। यह मेरा विषय नहीं है। सरकार, अमेरिका और तालिबान जो कुछ करना चाहते हैं, उन्हें वार्ता के द्वारा करना चाहिए। बीबीसी पैनोरमा कार्यक्रम 'चाट फार गोइंग टू स्कूलज्' में मलाला ने कहा कि लोगों की हत्या करना, सताना और लोगों को मारना-पीटना यह पूरी तरह से इस्लाम के खिलाफ है। वह इस्लाम के नाम का गल्त इस्तेमाल कर रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You