रासायनिक हथियार नष्ट करने में विशेषज्ञों के लिए खतरा

  • रासायनिक हथियार नष्ट करने में विशेषज्ञों के लिए खतरा
You Are HereInternational
Tuesday, October 08, 2013-11:29 PM

दमिश्कः सीरिया में लगभग एक हजार टन के रासायनिक अस्त्रों की निगरानी कर रहे अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञों के लिए इन अस्त्रों से बडा खतरा है। इन अस्त्रों को देखना, परखना और फिर इन्हें नष्ट कराना काफी बडे खतरे का काम है।

यह बात संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को दी गई अपनी रिपोर्ट में कही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार महासचिव ने 11 पृष्ठों की अपनी रिपोर्ट में 100 विशेषज्ञों का छोटा दल सीरिया भेजा गया है। पहले चरण में रासायनिक अस्त्र बनाने की सीरिया की क्षमता को खत्म किया जाना है। इसे एक नवम्बर तक पूरा करने का लक्ष्य है। दूसरे चरण में उसके रासायनिक अस्त्र नष्ट किए जाएंगे।

यह काम 2014 के मध्य तक पूरा  होगा। इस बीच इंडोनेशिया से मिली एक अन्य खबर के अनुसार रुस तथा अमेरिका सीरिया के रासायनिक अस्त्रों को नष्ट करने की योजना की रुपरेखा पर सहमत हो गये है। यह सहमति रुस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन से अमेरिका के विदेशमंत्री जानकेरी की भेंट के दौरान हुई। दोनों नेताओं ने आशा व्यक्त की है कि संयुक्त राष्ट्र विशेषज्ञ यह काम पूरा कर लेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You