पाकिस्तान छोड़ दुबई रवाना हो सकते हैं मुशर्रफ

You Are HereInternational
Thursday, October 10, 2013-4:06 PM

इस्लामाबाद: पूर्व सैन्य शासक परवेज मुशर्रफ को बुगती हत्याकांड में जमानत मिलने के बाद उन पर रखी नजरबंदी खत्म हो सकती है। उनके एक वकील ने दावा किया है कि वह पाकिस्तान छोड़ सकते हैं। जबकि उनकी पार्टी की प्रवक्ता ने इन सब अटकलों से इन्कार किया है। मुशर्रफ के वकील इलियास सिद्दीकी ने कहा कि वह इस अंतिम मामले में वह नजरबंद थे। भुट्टो हत्याकांड, 2007 में आपातकाल लागू करने और जज सहित अन्य दूसरे मामलों में मुशर्रफ को पहले ही जमानत मिल चुकी है।

उनके दूसरे वकील अहमद रजा कसूरी ने यह दावा किया है कि कानूनी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद मुशर्रफ वीरवार को दुबई के लिए रवाना हो सकते हैं। जबकि उनकी ऑल पाकिस्तान मुस्लिम लीग पार्टी की प्रवक्ता आसिया इशकुए का कहना है कि वह देश छोड़ कर नहीं जा रहे हैं। वह पाकिस्तान में ही रहकर मामलों का सामना करेंगे। उन्होनें कहा कि सुप्रीम कोर्ट के जमानत देने के फैसले से वह काफी खुश है और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि जमानत प्रदान करने से पहले अदालत ने कहा कि बुगती हत्याकांड में मुशर्रफ के खिलाफ कोई सबूत नहीं है।

इसके पहले पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट की तीन सदस्यीय पीठ ने बुधवार  मुशर्रफ को दस-दस लाख रुपए के दो निजी मुचलकों पर जमानत दी थी। बलूचिस्तान हाईकोर्ट द्वारा जमानत याचिका अस्वीकार कर दिए जाने के बाद मुशर्रफ ने सुप्रीम कोर्ट में आपील की थी। अगस्त, 2006 में मुशर्रफ तब राष्ट्रपति और सेनाध्यक्ष थे और उनके आदेश पर चलाए गए सैन्य अभियान के दौरान बुगती की हत्या कर दी गई थी।  फिलहाल वह इस्लामाबाद स्थित अपने घर में नजरबंद हैं।



 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You