आसियान के साथ प्रगाढता हेतु प्रधानमंत्री कर सकते है नई घोषणाएं

  • आसियान के साथ प्रगाढता हेतु प्रधानमंत्री कर सकते है नई घोषणाएं
You Are HereInternational
Thursday, October 10, 2013-1:22 PM

बंदर सेरी बेगवान: ब्रूनेई की यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह आसियान के साथ संबंधों में और घनिष्ठता लाने के लिए इस संगठन के लिए अलग से एक अभियान और अलग से राजदूत नियुक्त करने की घोषणा कर सकते हैं। डा सिंह 11वीं भारत-आसियान शिखर वार्ता और आठवीं पूर्व एशिया शिखर वार्ता में हिस्सा लेने के साथ आस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री टोनी एबोट के साथ द्विपक्षीय वार्ता और अन्य आसियान देशों के साथ नेताओं से भी मुलाकात करेंगे।

इससे पहले इन वार्ताओं में शामिल होने के लिए ब्रूनेई रवाना होने से पहले कल डा सिंह ने कहा था कि आसियान और इसके सदस्य देशों
के साथ संबंध भारत की 'पूर्व की ओर देखो' नीति का सबसे अहम हिस्सा है और पिछले कुछ वर्षों में अधिक मजबूत, समग्र और बहुआयामी रूप में विकसित हुए हैं। प्रधानमंत्री की आसियान नेतृत्व के साथ बातचीत 10 सदस्यीय इस संगठन के साथ भारत के संबंधों को और मजबूती दे सकती है।

आसियान और भारत के बीच रणनीतिक सहभागिता पहले ही शुरू हो चुकी है। दोनों के बीच  एक मुक्त व्यापार समझौता पहले ही हो चुका है और अब इस पर हस्ताक्षर होने की उम्मीद है। इस समझौते से भारत और आसियान समूह के देशों के बीच आर्थिक सहयोग को बढ़ावा मिलेगा। फिलहाल आसियान देशों के साथ भारत का व्यापार अस्सी अरब डॉलर का है जिसे 2015 तक बढ़ाकर 100 अरब डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You