घास पर बच्चे को जन्म देती औरत की फोटो हुई इंटरनेट वायरल

You Are HereInternational
Thursday, October 10, 2013-3:44 PM

मेक्सिको: मेक्सिको की एक औरत की फोटो ने इंटरनेट पर तूफ़ान खड़ा कर दिया और एक नयी बहस को जन्म दे दिया। गौरतलब है कि यह औरत प्रैग्गनैंट थी परन्तु एक क्लीनिक ने उसे भर्ती करने से इंकार कर दिया। ऐसे में औरत ने अस्पताल के बाग़ीचे में ही बच्चे को जन्म दे दिया। पास से गुजऱ रहे एक व्यक्ति ने इस हैरान करने वाले मंजर को अपने कैमरे में कैद कर लिया।

फोटो में औरत के चेहरे का दर्द साफ़ दिखाई दे रहा है। इस औरत का नाम इरमा लोपेज है। लोपेज की इस फोटो के साथ जहो इंटरनेट पर लोगों ने अपने गुस्से का इज़हार किया, वहीं सरकार ने अस्पताल के डायरैक्टर डाक्टर आदिरयान क्रुज को सस्पैंड कर कर जांच के हुक्म के दिए। तीन बच्चों की मां लोपेज का कहना है कि वह डिलीवरी के लिए 2 अक्तूबर को अपने पति के साथ रुरल् हैल्थ सैंटर गई थी परन्तु वहां से एक नर्स ने उसे यह कह कर भर्ती करने से मना कर दिया कि वह अभी सिर्फ 8 महीनों की प्रैग्गनैंट है और डिलीवरी के लिए तैयार नहीं है।

इस जोड़े को स्पैनिश ज़्यादा नहीं आती थी इसलिए वह नर्स की सारी बात नहीं समझ सके। उनको सिर्फ ‘नहीं ’ शब्द समझ आया और दोनों वहां से बाहर आ गए। इस घटना से डेढ़ घंटे बाद लोपेज की ऐमन्योटिक थैली फट गई। गौरतलब है कि बच्चों के जन्म से पहले ऐमन्योटिक थैली फट जाती है और इसको वाटर ब्रेकिंग कहा जाता है। लोपेज को महसूस हो गया कि बच्चों के जन्म का समय आ गया है। यह क्लीनिक के बाहर बाग़ीचे में ही बैठ गई। उसने घास को मुठी के साथ पकड़ा और ज़ोर लगाना शुरू कर दिया।

लोपेज ने कहा कि वह इस तरह बच्चे को जन्म नहीं देना चाहती थी क्यूंकि वह बहुत खऱाब और दर्द भरा था। बच्चे को जन्म देते समय वह अकेली था, जबकि उसका पति नर्स से मदद मांगने के लिए गया हुआ था। जिस व्यक्ति ने लोपेज की यह फोटो खिंची उसने यह प्रैस में दे दी। इंटरनेट पर यह फोटो वायरल हो गई। दूसरी तरफ़ मामला सामने आने पर मानवीय अधिकार कमीशन ने भी इस मामले की जांच शुरू कर दी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You