मलाला को यूरोपीय संघ का सखारोव मानवाधिकार पुरस्कार

You Are HereInternational
Thursday, October 10, 2013-5:06 PM

स्ट्रासबर्ग: लड़कियों की शिक्षा की पैरोकार पाकिस्तान की किशोर कार्यकर्ता मलाला युसुफजई को आज यूरोपीय संसद के प्रतिष्ठित सखारोव मानवाधिकार पुरस्कार से सम्मानित किया गया। मलाला को तालिबान ने गोली मार दी थी।

कंजरवेटिव यूरोपीय पीपुल्स पार्टी (ईपीपी) के अध्यक्ष जोसेफ दौल ने कहा, ‘‘आज हमने दुनिया को यह बताने का निर्णय लिया है कि बेहतर भविष्य के लिए हमारी आशा मलाला युसुफजई जैसे युवाओं पर है ।’’ अति चरमपंथी इस्लाम के खिलाफ लड़ाई का प्रतीक बन चुकी 16 वर्षीय मलाला को नोबेल शांति पुरस्कार के लिए भी नामित किया गया है । तालिबान के खिलाफ आवाज उठाने और बच्चों के स्कूल जाने के अधिकार के प्रति आवाज उठाने के कारण पाकिस्तानी तालिबान ने पिछले वर्ष 9 अक्तूबर को उनके सिर में गोली मार दी थी।

जेल में बंद बेलारूस के तीन विरोध नागरिकों और अमेरिकी खुफिया सर्विलांस कार्यक्रम का भंडाफोड़ करने वाले एडवर्ड स्नोडेन को भी संसद के सखारोव पुरस्कार के लिए नामित किया गया था। बेलारूस के तीन नागरिक हैं... एलेस बेल्यात्स्की, एडुअर्ड लोबाउ और मीकोला स्तात्केविच । राष्ट्रपति एलेक्जेंडर लुकाशेंको के दोबारा चुने जाने के विरोध में दिसंबर 2010 में मिंस्क में प्रदर्शन करने के मामले में तीनों को गिरफ्तार किया गया था।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You