चीन, अन्य देशों ने नालंदा विश्वविद्यालय में दिखाई रूचि

  • चीन, अन्य देशों ने नालंदा विश्वविद्यालय में दिखाई रूचि
You Are HereInternational
Friday, October 11, 2013-1:24 AM

प्रधानमंत्री के विशेष विमान से: चीन सहित कई देशों ने नालंदा विश्वविद्यालय को अंतरराष्ट्रीय संस्थान के तौर पर पहचान दिलाने के लिए भारत के साथ हाथ मिलाने में रूचि दिखाई है। इस संस्थान के लिए सात एशियाई देशों ने यहां सहमति पत्र पर हस्ताक्षर किए।

एक शीर्ष अधिकारी ने आज कहा कि चीन ने इस परियोजना के लिए अपना समर्थन देते हुए संकेत दिए कि वह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के आगामी दौरे पर इस अंतरराष्ट्रीय विश्वविद्यालय के लिए भारत के साथ सहमति पर हस्ताक्षर कर सकता है। आसियान और पूर्व एशिया सम्मेलन (ईएएस) के लिए सिंह के ब्रूनेई दौरे के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए विदेश मंत्रालय के सचिव (पूर्व) अशोक कंठ ने कहा कि आसियान और ईएएस सदस्यों और कई अन्य देशों ने इस परियोजना में रूचि दिखाई है।

उन्होंने कहा कि हम सकारात्मक प्रतिक्रिया से बहुत उत्साहित हैं। भारत ने इसके लिए सात देशों के साथ सहमति पत्र पर आज हस्ताक्षर किए और कई अन्य देश इस पर हस्ताक्षर करना चाहते हैं। चीन ने हस्ताक्षर करने के संकेत दिये हैं और ईएएस देशों के अलावा कई अन्य भी कह रहे हैं कि वे बाद में सहमति पत्र पर हस्ताक्षर कर सकते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You