नोबेल समिति ने अमेरिका और रूस को आडे हाथों लिया

  • नोबेल समिति ने अमेरिका और रूस को आडे हाथों लिया
You Are HereInternational
Saturday, October 12, 2013-12:41 AM

ओस्लोः हाल में सीरिया में रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल पर सबसे ज्यादा हाय-तौबा मचाने वाले देश अमेरिका और रूस को आड़े हाथों लेते हुये नार्वे की नोबेल समिति ने रासायनिक हथियार नष्ट न करने के लिए इन दोनों देशों की आलोचना की है।

आज यहां वर्ष 2013 के नोबेल शांति पुरस्कार की घोषणा करते हुए समिति ने कहा, कुछ देशों ने अप्रैल 2012 की समय सीमा बीत जाने के बाद भी अपने रासायनिक हथियार नष्ट नहीं किये हैं। समिति ने विशेष तौर पर अमेरिका और रूस के नाम का उल्लेख करते हुए कहा, यह खास तौर पर अमेरिका और रूस के लिए लागू होता है।

ओपीसीडब्ल्यू रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल पर निगरानी रखने वाली वैश्विक संस्था है, जिसे इस साल के नोबेल पुरस्कार के लिए चुना गया है। पुरस्कारों की घोषणा के बाद समिति के अध्यक्ष थोबर्न जैगलैंड ने कहा कि पुरस्कार रासायनिक हथियारों के बडे जखीरे वाले देशों जैसे अमेरिका और रूस को यह याद दिलाने के लिए है कि वे भी अपने भंडार को खत्म करें, विशेषकर इसलिए क्योंकि वे सीरिया तथा अन्य देशों को ऐसा करने के लिए कह रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You