भूकंप पीड़ितों के लिए पैसा जुटा रहा है जमात-उद-दावा

  • भूकंप पीड़ितों के लिए पैसा जुटा रहा है जमात-उद-दावा
You Are HereInternational
Tuesday, October 15, 2013-9:17 AM

लाहौर: आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का मुखौटा संगठन जमात-उद-दावा (जेयूडी) पाकिस्तान में आए भूकंप से पीड़ित लोगों को राहत देने के नाम पर चंदा जुटा हुआ है। विश्व समुदाय इस कोशिश में लगा हुआ है कि उसे पैसा न मिले, इसके बावजूद वह ऐसा कर रहा है। भारत और अमेरिका ने एक दिन पहले ही उसके वित्तीय तंत्र को संयुक्त रूप से निशाना बनाने के लिए समझौता किया है। जेयूडी का प्रमुख हाफिज मुहम्मद सईद वर्ष 2008 में हुए मुंबई हमला की साजिश का मुख्य अभियुक्त है। उसने पूरे देश में पैसा जमा करने के लिए कैंप लगा रखे हैं।

पंजाब प्रांत में उसके बहुत सारे समर्थक होने के कारण वहां उसके बहुत कैंप हैं। सईद ने रविवार को यह घोषणा की है कि उसका संगठन बलूचिस्तान के भूकंप से प्रभावित इलाकों में दो हजार घर बनाएगा। इसके लिए उसने लोगों से उदारता से दान देने की अपील की है। पाकिस्तान में पिछले महीने भूकंप  के आने से लगभग पांच सौ लोगों की जान गई थी। जमात अपने एक और मुखौटा संगठन फलाह-ए- इंसानियत फाउंडेशन के नाम से पैसा जमा तकने में लगा हुआ है।

पाकिस्तानी प्रशासन ने मुंबई हमलों के बाद जब जमात पर प्रतिबंध लगाए तो उसने इस फाउंडेशन की स्थापना कर ली। ईद-उल-अजहा के मौके पर कुर्बान किए गए जानवरों की खाल एकत्र करने के लिए भी देश भर में इस फाउंडेशन ने शिविर लगा रखे हैं। विशेषज्ञों का कहना है कि जेयूडी हर वर्ष इन खालों को चमड़ा बनाने के कारखानों को बेचकर करोड़ों रुपये अर्जित करता है। पंजाब के जिलों में सईद अक्सर जनसभाएं आयोजित करता है और कश्मीर के नाम पर लोगों से दान देने की अपील करता है।  मुंबई हमले के बाद  संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने जेयूडी को लश्कर-ए-तैयबा का मुखौटा संगठन घोषित किया था।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You