अल लिबी ने अदालत में खुद को कहा बेकसूर

  • अल लिबी ने अदालत में खुद को कहा बेकसूर
You Are HereInternational
Wednesday, October 16, 2013-2:08 PM

न्यूयार्क: केन्या की राजधानी नैरोबी और तंजानिया के दार ए सलाम में अमेरिकी दूतावास पर हुए हमलों के मुख्य साजिशकर्ता अबू अनस अल लिबी ने न्यूयार्क की एक अदालत में खुद को बेगुनाह बताया है। अमेरिकी दूतावास पर 1998 में हुए इस हमले में 244 लोग मारे गए थे, जबकि 5000 से अधिक लोग जख्मी हो गए थे। लीबिया के नागरिक अबू अनस अल लिबी (49) को न्यूयार्क सदर्न डिस्ट्रिक अदालत में पेश किया गया।

कड़ी सुरक्षा के बीच लगभग 15 मिनट तक चली सुनवाई में जज लुइस कैपलन ने उसके खिलाफ लगाए गए आरोंपों को पढ़ा। इस दौरान अभियोजन पक्ष के वकील ने लिबी को लोगों के लिए गंभीर खतरा बताया। सुनवाई की समाप्ति पर जज ने उसे हिरासत में लेने का आदेश दिया और मामले की अगली सुनवाई की तारीख 22 अक्तूबर निश्चित की गई।

गौरतलब है कि अमेरिकी सेना के विशेष बल सील ने पांच अक्तूबर को लीबिया की राजधानी त्रिपोली से अपने खुफिया अभियान के तहत लिबी को अपने कब्जे में लिया था। विशेष बल ने लिबी को अमेरिकी अदालत को सौंपने से पूर्व अल कायदा के खूंखार आतंकवादी से भूमध्य सागर में लंगर डाले नौसैनिक पोत पर गहन पूछताछ की थी। अमेरिका में लिबी के खिलाफ कई संगीन अपराधों में 2001 से ही मामले दर्ज हैं।

अमेरिकी संघीय जांच एजेंसी (एफबीआई) ने लिबी के कारनामों से तंग होकर उस पर पचास लाख डॉलर का इनाम रखा था। लिबी, अफ्रीका में आतंकवादी संगठन अल कायदा के पूर्व सरगना ओसामा बिन लादेन के सबसे खास साथियों में एक था। माना जाता है कि तंजानिया और नैरोबी में 1998 में हुए अमेरिकी दूतावासों पर हुए हमले के निर्देश लादेन ने ही लिबी को दिए थे।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You