शनि और बृहस्पति ग्रह पर हो रही है हीरों की बारिश

  • शनि और बृहस्पति ग्रह पर हो रही है हीरों की बारिश
You Are HereInternational
Wednesday, October 16, 2013-3:28 PM

वाशिंगटन: आसमान से चमकते-दमकते और झिलमिलाते हीरों की बारिश की बात भले ही कल्पना लगे, लेकिन वैज्ञानिकों ने नए शोध में बताया कि शनि और बृहस्पति ग्रहों से टनों हीरों की बरसात हो रही है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के जेट प्रोपल्शन लैबोरेटरी और विस्कोन्सिन मैडिसन विश्वविद्यालय के डा केविन ब्रेन्स ने गैस के इन विशालकाय ग्रहों के वातावरण के नए आंकडों का विश्लषेण करके बताया कि इन ग्रहों पर झिलमिलाते क्रिस्टल के रूप में बहुतयात मात्रा में कार्बन मौजूद है।

ब्रेन्स ने कोलोराडो के डेनेवर में कैलिफोर्निया स्पेशैलिटी इंजीनियरिंग की मोना देलिस्तकी के साथ डिवीजन फार प्लैनेटरी साइंसेज की वार्षिक बैठक में अपने अप्रकाशित शोध के निष्कर्षों में बताया कि इन ग्रहों पर गरज, चमक के साथ तूफान के साथ ओलावृष्टि मीथेन को कार्बन में बदल देते है, जो गिरने पर ठोस होकर ग्रेफाइट का रूप ले लेते है और फिर हीरे में तब्दील हो जाते हैं। बाद में हीरे के यह टुकड़े इन ग्रहों के दहकते केंद्र में पिघल जाते हैं। वैज्ञानिकों का कहना है कि शनि पर हर वर्ष एक हजार टन से भी अधिक हीरावृष्टि हो रही है। सबसे बड़ा हीरे का आकार लगभग एक सेंटीमीटर तक का है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You