भारतवंशी नृत्यांगना बनीं अमेरिकी कला परिषद की सदस्य

  • भारतवंशी नृत्यांगना बनीं अमेरिकी कला परिषद की सदस्य
You Are HereInternational
Friday, October 18, 2013-3:42 PM

वाशिंगटन: अमेरिकी सीनेट ने प्रसिद्ध भारतवंशी भरतनाट्यम नृत्यांगना रानी रामास्वामी को प्रतिष्ठित नेशनल काउंसिल ऑन द आर्ट्स की सदस्य बनाए जाने की पुष्टि की है। वह पांच सालों तक इसकी सदस्य रहेंगी। नेशनल काउंसिल ऑन द आर्ट्स, नेशनल एंडाउमेंट फॉर द आर्ट्स के अध्यक्ष को सलाह देती है, जो काउंसिल की अध्यक्षता करने के साथ संस्था की नीतियों एवं कार्यक्रमों पर नजर रखता है।

काउंसिल अनुदान के लिए आवेदनों की समीक्षा करती है और इसका सिफारिश अध्यक्ष से करती है। रामास्वामी अलार्मेल वल्ली की शिष्या रही हैं। वल्ली भारत में भरतनाट्यम की महान गुरु हैं। रामास्वामी ने मिन्नेसोटा के मिनिएपोलिस में 1992 में रागमाला म्यूजिक एंड डांस थियेटर की स्थापना की थी। उनकी वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, रामास्वामी ने तब से अमेरिका में भरतनाट्यम को लोकप्रियता दिलानी शुरू की।

उन्होंने रॉबर्ट ब्ले, जैज संगीतकार हॉवर्ड लेवी और महान संगीताकर व वायलिन वादक एल, सुब्रमण्यम जैसी हस्ती के साथ काम किया है। उनको मिले अनुदानों और अधिछात्रवृत्तियों में मैकनाइट आर्टिस्ट फेलोशिप, बुश फेलोशिप और आर्टिस्ट एक्सप्लोरेशन फंड ग्रांट फ्रॉम आर्ट्स इंटरनेशनल शामिल हैं। उनके काम को नेशनल एंडाउमेंट फॉर द आर्ट्स, नेशनल डांस प्रोजेक्ट और जापान फाउंडेशन का समर्थन मिला है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You