रिपोर्ट में हुआ खुलासा, आतंकी समूहों में फिर शामिल हुए 722 संदिग्ध

  • रिपोर्ट में हुआ खुलासा, आतंकी समूहों में फिर शामिल हुए 722 संदिग्ध
You Are HereInternational
Saturday, October 19, 2013-3:08 PM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान में अदालत द्वारा वर्ष 2007 के बाद से रिहा किए गए करीब 2,000 संदिग्ध आतंकियों में से ज्यादातर लोग या तो आतंकी समूहों में शामिल हो गए हैं या फिर राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में लिप्त हैं। पाकिस्तान के एक प्रसिद्ध समाचार पत्र ‘डॉन’ में आज प्रकाशित एक रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है। इस रिपोर्ट के मुताबिक, अदालत ने जिन 1,964 आतंकियों को रिहा किया, उनमें से 722 लोग दोबारा आतंकी समूहों से जुड़ गए, जबकि 1,197 लोग सक्रिय रूप से राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल हैं।

इस समाचार पत्र ने एक आधिकारिक दस्तावेज के हवाले से बताया कि रिहा किए गए इन संदिग्ध आतंकियों में कम से 12 लोग मारे जा चुके हैं। इनमें से चार लोग देश के अशांत कबायली इलाकों में किए गए अमेरिकी ड्रोन हमलों में जबकि बाकी के आठ लोग सुरक्षा बलों के अभियान में मारे गए हैं। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि इस दस्तावेज की भाषा पूरी तरह से स्पष्ट नहीं है, हालांकि इससे यह प्रतीत होता है कि जिन लोगों पर नजर रखी जा रही हैं, वे अब भी आतंकी गतिविधियों में संलिप्त हैं।

रक्षा विश्लेषक एयर वाइस मार्शल (सेवानिवृत्त) शहजाद चौधरी ने कहा कि कुछ बड़े मामलों में रिहा हुए संदिग्धों पर खुफिया एजेंसियां नजर रखती हैं। उन्होंने कहा, ‘‘रिहा किए गए कुछ संदिग्ध राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल हो जाते हैं, तो सुरक्षा एजेंसियां उन्हें गिरफ्तार करने का प्रयास करती हैं और पकड़ कर नजरबंदी केंद्र में बंद कर देती हैं।’’ इस रिपोर्ट में कहा गया कि रिहाई के बाद इन संदिग्धों को हिरासत में लेने का कोई कानूनी प्रावधान नहीं है और ऐसे में यह लोग गुमशुदा लोगों की श्रेणी में डाल दिए जाते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You