अमेरिकी सैनिकों का भविष्य लोया जिरगा के हाथ में

  • अमेरिकी सैनिकों का भविष्य लोया जिरगा के हाथ में
You Are HereInternational
Sunday, October 20, 2013-12:06 AM

काबुलः अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिकों का भविष्य पूरी तरह से लोया जिरगा के हाथ में है। कबीलाई वरिष्ठों की यह बैठक नवंबर के अंत में होगी। आयोजकों ने यह जानकारी देते हुए बताया कि लंबे समय से लंबित द्विपक्षीय मामलों पर इसी में फैसला होगा।

अमेरिकी विदेश मंत्री जान केरी और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई के बीच पिछले सप्ताहांत में द्विपक्षीय सुरक्षा समझौता हुआ था, लेकिन राष्ट्रपति ने कहा था कि लोया जिरगा के पास ही विवादास्पद मुद्दों को हल करने का अधिकार है। इसमें अमेरिका का अफगानिस्तान में अपने सैनिकों पर कानूनी अधिकार होने की बात शामिल हैं। इसका अर्थ हुआ कि इन सैनिकों पर अफगानिस्तान का कानून नहीं लागू होगा।

आयोजकों में से एक सादिक मुदाबेर ने संवाददाताओं से कहा कि सुरक्षा समझौते में बहुत सी महत्वपूर्ण बाते हैं। अब समय आ गया है कि इसे अफगानिस्तान की जनता के सामने पेश किया जाए। अमेरिका ने कहा है कि अगर उसे अपने नागरिकों के खिलाफ मुकद्दमा चलाने का अधिकार नहीं मिला तो वह समझौते के लिए नहीं राजी होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You