कश्मीर में अमेरिकी हस्तक्षेप मांग को भारत ने किया खारिज, भाजपा सरकार के साथ

  • कश्मीर में अमेरिकी हस्तक्षेप मांग को भारत ने किया खारिज, भाजपा सरकार के साथ
You Are HereNational
Monday, October 21, 2013-7:55 AM

नई दिल्ली: कश्मीर मुद्दे के समाधान के लिए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की अमेरिकी हस्तक्षेप की मांग को सिरे से खारिज करते हुए भारत ने आज कहा कि कश्मीर इस देश का अखंड अंग है तथा इस बारे में सवाल करने की कोशिश भी ‘‘समय की बर्बादी’’ होगी। पाकिस्तान की मांग को खारिज करते हुए विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने कहा कि भारत इसे स्वीकार नहीं करेगा क्योंकि मामला द्विपक्षीय है और इस पर दोनों देशों के बीच सहमति बननी है।

सरकार को अपने रूख पर मुख्य विपक्षी दल भाजपा का भी समर्थन मिला। पार्टी के वरिष्ठ नेता मुरली मनोहर जोशी ने कहा कि इस मामले में किसी तीसरे पक्ष को हस्तक्षेप करने का अधिकार नही है। उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से अनुरोध किया कि वह शरीफ के प्रस्ताव को खारिज कर दें। खुर्शीद ने एनडीटीवी से कहा, ‘‘शिमला समझौते में भारत और पाकिस्तान के बीच इसे द्विपक्षीय मुद्दा माना गया था और भारत इस मुद्दे पर कोई भी हस्तक्षेप स्वीकार नहीं करेगा।’’

उन्होंने कहा कि कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और किसी को भी उस पर सवाल खड़े नहीं करना चाहिए। ‘‘किसी के लिए भी, भले ही वह कितना ही प्रख्यात हो, इस पर सवाल करने की कोशिश करना भी समय की बर्बादी होगी।’’ राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात से पहले शरीफ ने कश्मीर मुद्दे के समाधान में अमेरिकी हस्तक्षेप की आज मांग की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You