तालिबान से नहीं, भूतों से लगता है डर : मलाला

  • तालिबान से नहीं, भूतों से लगता है डर : मलाला
You Are HereInternational
Monday, October 21, 2013-10:32 AM

नई दिल्ली: पाकिस्तानी लड़की मलाला यूसुफजई के हौसले आज भी वैसे ही है, जैसे तालिबानियों से सामने करते समय थे। एक टीवी चैनल की पत्रकार से बात करते हुए मलाला ने कहा है कि बेशक उसकी दुनिया बदल गई है, परंतु उसके इरादे और हौंसले आज भी वैले ही हैं। मलाला ने कहा कि उसे तालिबानियों से नहीं, भूतों से डर लगता हैं। मलाला ने कहा कि कट्टरपंथी तालिवानी यह नहीं चाहते कि पाकिस्तान में लड़कियां स्कूल जाएं, क्योंकि वह डरते हैं।

मलाला ने कहा कि उसका सपना पाकिस्तान की प्रधानमंत्री बनना है और तब हर लड़की को स्कूल भेजूंगी। गौरतलब हैं कि गत वर्ष 9 अक्टूबर को तालिबान ने मलाला को इसलिए गोली मार दी थी कि इसने तालिबानियों का विरोध करते हुए स्कूल न जाने की बात से मना कर दिया था। इस हादसे के बाद ब्रिटेन के बर्मिंघम शहर के क्वीन एलिज़ाबेथ अस्पताल में मलाला का इलाज हुआ, जिसके बाद से अब मलाला ठीक हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You