भारत ने संयुक्त राष्ट्र में किया ‘लोकतांत्रिक’ साइबर स्पेस का आह्वान

  • भारत ने संयुक्त राष्ट्र में किया ‘लोकतांत्रिक’ साइबर स्पेस का आह्वान
You Are HereInternational
Wednesday, October 23, 2013-3:10 PM

संयुक्त राष्ट्र: भारत ने संयुक्त राष्ट्र से कहा है कि साइबर स्पेस का संचालन लोकतांत्रिक और पारदर्शी होना चाहिए और ‘निजी संपत्ति’ के तौर पर इसका प्रबंधन नहीं होना चाहिए। सांसद अश्विनी कुमार ने कल यहां विकास के लिए ‘सूचना और संचार प्रौद्योगिकी’ पर संयुक्त राष्ट्र महासभा सत्र में कहा, ‘‘बहु-सांस्कृतिक, बहु-जातीय और लोकतांत्रिक समाज के तौर पर भारत इंटरनेट के मुक्त विकास के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध है।’’ भारत ने सरकारों, निजी क्षेत्र, सिविल सोसाइटी और अंतरराष्ट्रीय संगठनों की पूरी भागीदारी से इंटरनेट के लिए बहुपक्षीय, पारदर्शी और लोकतांत्रिक अंतरराष्ट्रीय प्रबंधन पर जोर दिया है।

कुमार ने कहा, ‘‘हमारा मानना है कि लोकतंत्र, समावेशन, स्पष्टता और पारदर्शिता के मूल्यों पर आधारित साइबर स्पेस का संचालन इसी तरह से समग्र, लोकतांत्रिक, भागीदारीवाला, बहुपक्षीय और पारदर्शी प्रकृति का होना चाहिए।’’ भारत ने साइबर सुरक्षा के नाम पर इंटरनेट के नियंत्रण को लेकर हमेशा अपना एतराज जाहिर किया है। उन्होंने कहा कि वैश्विक इंटरनेट संचालन केवल तभी  'क्रियाशील, प्रभावशाली और विश्वसनीय’ हो सकता है जब विकासशील देशों सहित सभी पक्षों से विचार विमर्श हो।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You