मालदीव में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के पक्ष में भारत :खुर्शीद

  • मालदीव में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के पक्ष में भारत :खुर्शीद
You Are HereInternational
Thursday, October 24, 2013-12:52 AM

सिंगापुर: विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने आज यहां कहा कि भारत मालदीव में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव चाहता है लेकिन उसके आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करेगा। जब एक सेमिनार में खुर्शीद से पूछा गया कि मालदीव में नए राष्ट्रपति के लिए चुनाव कराने को लेकर बने राजनीतिक गतिरोध पर भारत कोई प्रतिक्रिया क्यों नहीं दे रहा है तो विदेश मंत्री ने कहा कि हम दखलंदाजी नहीं चाहते। मालदीव में नवंबर में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव होने चाहिए।

दो दिवसीय आधिकारिक यात्रा पर आज सिंगापुर पहुंचे खुर्शीद ने कहा, ‘‘यह हमारे लिए बहुत कठिन है। हमारा रिश्ता मालदीव के साथ है और उस देश की किसी राजनीतिक पार्टी या किसी राजनीतिक व्यक्तित्व के साथ नहीं।’’ भारत मालदीव के साथ अपने रिश्तों को महत्व देता है और उम्मीद करता है कि वहां नवंबर में सफलतापूर्वक चुनाव होंगे। पुलिस ने गत 19 अक्तूबर को मालदीव में राष्ट्रपति पद के लिए पुनर्मतदान पर रोक लगा दी थी जिसके बाद देश में नये सिरे से राजनीतिक अस्थिरता प्रभावी हो गई। पिछले साल मोहम्मद नशीद को हटाये जाने के बाद से देश संकट में है।

नशीद ने सितंबर में हुए मतदान के पहले दौर में बढ़त बनाई थी लेकिन एक उम्मीदवार की ओर से धोखाधड़ी की शिकायत किये जाने के बाद सुप्रीम कोर्ट ने इसे निरस्त कर दिया था। मालदीव के चुनाव आयोग ने सोमवार को घोषणा की थी कि राष्ट्रपति चुनाव का पहला चरण 9 नवंबर को और दूसरा दौर 16 नवंबर को होगा। सिंगापुर में खुर्शीद कल विदेश मंत्री के शंमुगम के साथ तीसरी संयुक्त मंत्री स्तरीय समिति की बैठक की सह-अध्यक्षता करेंगे। हर साल आयोजित होने वाली बैठक में द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की जाती है और सहयोग के नये क्षेत्र तलाशे जाते हैं। खुर्शीद इस देश के राष्ट्रपति टोनी टेन केंग याम और रक्षा मंत्री एन इंग हेन से भी मुलाकात करेंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You