कश्मीर मुद्दाः शरीफ ने अमेरिकी हस्तक्षेप की मांग दोहराई

  • कश्मीर मुद्दाः शरीफ ने अमेरिकी हस्तक्षेप की मांग दोहराई
You Are HereInternational
Friday, October 25, 2013-6:38 AM

इस्लामाबाद: कश्मीर के मुद्दे पर हस्तक्षेप करने से अमेरिका के इनकार के बावजूद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने आज इस मामले के समाधान के लिए अमेरिका के दखल की अपनी मांग दोहराई। वाशिंगटन में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात के बाद वापसी के रास्ते में लंदन में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए शरीफ ने कहा कि पाकिस्तान चाहता है कि भारत की आपत्ति के बावजूद अमेरिका इस मामले में हस्तक्षेप करे।

उन्होंने कहा, ‘मैंने अपने पहले के बयान पर भारतीय विदेश मंत्री की प्रतिक्रिया पढ़ी और सुनी। हमें एक दूसरे से बातचीत करनी चाहिए और यह बहुत अच्छी बात होगी।’ सरकारी एपीपी समाचार एजेंसी ने शरीफ के हवाले से कहा, ‘लेकिन यदि द्विपक्षीय वार्ता सफल नहीं होती और तब यदि कोई तीसरा पक्ष मुद्दे को सुलझाने में मदद करता है तो इसमें कोई नुकसान नहीं है।’ शरीफ ने जोर देते हुए कहा कि अमेरिका को कश्मीर मामले के समाधान में अपनी भूमिका निभानी चाहिए।

ओबामा के साथ मुलाकात के बाद शरीफ ने खुद इस बात का खुलासा किया कि उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति के साथ कश्मीर का मुद्दा समेत भारत के साथ पाकिस्तान के रिश्तों पर चर्चा की। हालांकि शरीफ ने इस बारे में जानकारी नहीं दी कि उन्होंने कश्मीर मुद्दे के किस पहलू को उठाया। उन्होंने ओबामा के जवाब के बारे में भी नहीं बताया। वाशिंगटन पहुंचने से पहले शरीफ ने कश्मीर मामले के हल के लिए अमेरिकी हस्तक्षेप की मांग की थी, लेकिन ओबामा प्रशासन ने फौरन इस मांग को खारिज करते हुए कहा था कि कश्मीर पर उसकी नीति में रत्ती भर भी बदलाव नहीं हुआ है और वह इसे भारत और पाकिस्तान के बीच का द्विपक्षीय विषय मानता है। (एजेंसी)


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You