जासूसी न करने का समझौता करे अमेरिका: मर्केल

  • जासूसी न करने का समझौता करे अमेरिका: मर्केल
You Are HereInternational
Friday, October 25, 2013-1:51 PM

ब्रसेल्स:जर्मनी की चांसलर अंजेला मर्केल ने कल मांग की कि अमेरिका को इस वर्ष के अब तक जर्मनी और फ्रांस के साथ जासूसी नहीं करने का समझौता करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही यूरोपीय संघ के इन देशों के विरद्ध जासूसी बंद होनी चाहिए। अंजेला मार्केल यूरोपीय संघ की शिखर बैठक के बाद संवाददाताओं से बात कर रही थीं। शिखर बैठक में उन्होंने अमेरिकी जासूसी के बारे में संघ के नेताओं के साथ भी बातचीत की।

उन्होंने कहा कि वह चाहती हैं कि राष्ट्रपति बराक ओबामा केवल क्षमा याचना नहीं करें, बल्कि जासूसी के दोषी लोगों को दंडित करें। ज्ञातव्य है कि जर्मन चांसलर के मोबाइल फोन पर की जाने वाली बातों को चोरी से सुना गया। जर्मनी तथा फ्रांस, अमेरिका के साथ गुप्तचर एजेंसियों के बीच आपसी सहयोग के बारे में सहमति बनाए जाने की योजना पर भी बात करेंगे और अगर यह योजना स्वीकार की गई तो इसमें यूरोपीय संघ के दूसरे देश भी शामिल होंगे। यूरोपीय संघ की पहले दिन की शिखर बैठक में एक वक्तव्य जारी कर जर्मनी तथा फ्रांस की इस योजना का स्वागत किया गया। अमेरिका का जासूसी नहीं करने का समझौता ब्रिटेन, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड तथा कनाडा के साथ पहले से ही है।
   


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You