बेघर व्यक्ति की तरह बनकर कक्षा मे आया छात्र निलंबित

  • बेघर व्यक्ति की तरह बनकर कक्षा मे आया छात्र निलंबित
You Are HereInternational
Monday, October 28, 2013-11:28 AM

पिट्सबर्ग: अमेरिका के एक स्कूल में नाटक की कक्षा के लिए बेघर व्यक्ति का रूप धरकर आया एक छात्र इतना प्रभावी लग रहा था कि वह स्कूल अधिकारियों को मूर्ख बनाने में सफल रहा और उसे कक्षा से निलंबित कर दिया गया। 17 वर्षीय माइकल बोडोमोव ने कहा कि इसकी शुरूआत पिछले माह मिले असाइनमेंट से हुई। यह असाइनमेंट था-एक किरदार की रचना कीजिए और उसकी भूमिका पूरे दिन निभाइए।

बोडोमोव ने कहा कि उसने जॉन नामक एक बेघर व्यक्ति का किरदार रचा, जिसने अपनी छोटी बहन को कुचल दिया था और फिर उसे अपने परिवार से अलग रहना पड़ रहा था। जॉन को एक गुरू ने काफी प्रभावित किया था, जिसने उसे सारी सांसारिक चीजें छोडऩे के लिए कहा था। उसने कहा, ‘‘मैंने एक-दो कोट पहने और कुछ ढीली ढाली पैंट पहनी।’’ उसने बिना उंगलियों वाले दस्ताने पहने, अलग-अलग जूते पहने और जुराबों की जगह प्लास्टिक की थैलियां पहनीं। उसने गंदा दिखने के लिए अपने चेहरे पर स्याही छिड़क ली।

सामान्यत: बोडोमोव स्कूल तक पैदल चलकर जाता है लेकिन उसकी मां मरीना ने सोचा कि वह बिल्कुल एक बेघर व्यक्ति जैसा दिख रहा है। इसलिए वह खुद उसे गाड़ी में बैठाकर जल्दी स्कूल छोड़ आईं। तब तक स्कूल का मुख्य द्वार भी नहीं खुला था। बोडोमोव एक दूसरे रास्ते से गया। वहां उसने दरवाजा हिलाया और एक अध्यापक और हॉल मॉनिटर का ध्यान खींचा। उन्होंने इसे अजनबी समझकर पूछा कि यह क्या चाहता है। बोडोमोव ने बताया, ‘‘मैंने धीरे से बुदबुदाया’’ और ‘‘कहा कि मुझे कुछ लोगों से बात करनी है।’’

शायद इससे उन अधिकारियों को लगा कि मेरी मानसिक हालत ठीक नहीं है। बोडोमोव ने कहा कि वह अपनी भूमिका निभाने और अधिकारियों को अपनी असलियत बताने के बीच उलझ गया था। बोडोमोव ने कहा, ‘‘एक बार मैंने कहा कि मैं यहां का छात्र हो सकता हूं।’’ तब स्कूल अधिकारी ने कहा, ‘‘नहीं, तुम नहीं हो सकते। तुम 30 साल के दिखते हो और तुम पिछले 10 दस दिनों से नहाए भी नहीं हो।’’ बोडोमोव ने उन्हें अपना कचरे वाला थैला दिखाने की कोशिश की, जिसमें उसका स्कूल का बैग भी था, लेकिन जब उसने देखा तो थैले में सिर्फ खाली प्लास्टिक की बोतलें ही थीं। पुलिस को भी इस बीच बुला लिया गया।

थोड़ी और देर तक किरदार में बने रहने के बाद बोडोमोव ने पूरी स्थिति बताई। पुलिस चली गई और स्कूल के अधिकारी ने कहा कि  बोडोमोव को अवज्ञा करने और स्कूल के उस नियम की अवहेलना करने के लिए निलंबित किया जाता है, जिसके तहत स्कूल अधिकारी द्वारा पूछे जाने पर छात्रों को अपनी पहचान बतानी चाहिए। बोडोमोव मानता है कि स्कूल बिल्कुल अजीब सी स्थिति में था, लेकिन दो दिन का निलंबन उसे दुखी कर देता है। उसका मानना है कि स्कूल ने बहुत ज्यादा प्रतिक्रिया दे दी। हालांकि उसकी मां का मानना है कि हालिया हिंसक घटनाओं को देखते हुए स्कूल का सतर्क रहना सही है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You