किसी को भी नहीं सौंपेंगे मुल्ला बरादर: पाक

  • किसी को भी नहीं सौंपेंगे मुल्ला बरादर: पाक
You Are HereInternational
Thursday, October 31, 2013-10:51 AM

इस्लामाबाद: पाकिस्तान ने तालिबान के पूर्व कमांडर मुल्ला अब्दुल गनी बरादर को अफगानिस्तान को सौंपने से साफ मना कर दिया। जबकि पाकिस्तान ने अफगानिस्तान उच्च शांति परिषद को पाकिस्तान आकर बरादर से मिलने की इजाजत दे दी। इससे पहले काबुल में अफगानिस्तान के राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा था कि बरादर से बात करने शीघ्र ही पाकिस्तान जाएंगे। यह फैसला लंदन सम्मेलन में बातचीत में हुई प्रगति के बाद लिया गया है।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार तारिक फातमी ने कहा, 'हम किसी को भी बरादर को नहीं सौंपेंगे। उसको कहीं भी कभी भी आने-जाने की छूट है। हम किसी के लिए उसे गिरफ्तार नहीं करने वाले और न ही अन्य स्थान पर ले जाने वाले हैं।' उनके अनुसार, उच्च शांति परिषद बरादर से मिल सकती है। यदि वह उससे मिलने यहां आते हैं, तो उनका यहां स्वागत है। उन्होंने कहा, अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई चाहते हैं कि उच्च शांति परिषद के साथ पाकिस्तान तालिबान को बातचीत के लिए तैयार करे और हम  मदद के लिए हर संभव कदम उठाने को तैयार हैं।

2010 में बरादर को पाकिस्तान में गिरफ्तार किया गया था और पिछले महीने ही उसकी रिहाई की घोषणा की थी, लेकिन वह अब भी पाकिस्तान की निगरानी में है। बरादर की रिहाई के लिए अफगानिस्तान कई वर्षो से मांग करता रहा है। दरअसल, अफगानिस्तान में कुछ लोग बरादर को शांति वार्ता फिर से शुरू करने को लेकर अहम मानते हैं। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति कार्यालय के बयान में बताया गया है कि ब्रिटेन, अफगानिस्तान और पाकिस्तान के नेताओं ने शांति प्रकिया में बरादर की भूमिका को लेकर चर्चा की है। इस पर सहमति बन गई है कि एक प्रतिनिधिमंडल शीघ्र ही बरादर से मिलने पाकिस्तान जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You