सिंगल होने का इतना दुख के काटा अपना गुप्‍तांग

  • सिंगल होने का इतना दुख के काटा अपना गुप्‍तांग
You Are HereInternational
Thursday, October 31, 2013-12:39 PM

बीजिंग: सिंगल होने की बात से एक व्यक्ति इतना दुखी था कि उसने अपना गुप्‍तांग ही काट लिया। इतना ही नहीं जब दर्द असहनीय हो गया तो वह खुद साइकिल चलाकर इलाज के लिए अस्‍पताल जा पहुंचा। अस्‍पताल में डॉक्‍टरों ने उसे बताया कि वह उसकी मदद नहीं कर सकते और उसे घर जाकर गुप्‍तांग लाने को कहा, ताकि उसका इलाज किया जा सके।

जब 26 वर्षीय यांग हू गुप्‍तांग लेकर अस्‍पताल वापिस पहुंचा तो डॉक्‍टर ने उससे कहा कि अब उसके गुप्‍तांग को जोड़ना नामुमकिन है, क्‍योंकि उसमे लंबे समय तक खून का प्रवाह नहीं हुआ है। यांग के दोस्‍त ने बताया कि कोई गर्लफ्रेंड न होने के कारण वह बहुत दुखी रहता था । यही नहीं उसे कपड़ा बनाने वाली एक फैक्‍ट्री में कई घंटों तक काम करना पड़ता था और उसे इस बात का शक था कि उसे कभी किसी महिला से मिलने का मौका नहीं मिलेगा।

वह इतना अधिक तनाव में रहने लगा कि 27 अक्‍तूबर को रात 9:00 बजे जब वह काम से अपने किराए के मकान पर लौटा तो उसने अपना गुप्‍तांग काटने का फैसला कर लिया, क्‍योंकि उसे लगता था कि अब उसका कोई काम नहीं है और उसे गर्लफ्रेंड के खयाल भी नहीं आएंगे। लेकिन हैरत मे डालने वाली  बात यह है कि वह खुद साइकिल चलाकर अस्‍पताल पहुंचने में कामयाब रहा। यही नहीं वह गुप्‍तांग लेने फिर से साइकिल चलाकर घर भी वापस और गया, फिर अस्‍पताल आया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You