इराक की मदद के लिए आगे आया अमेरिका, लोकतंत्र में सुधार की हिदायत

  • इराक की मदद के लिए आगे आया अमेरिका, लोकतंत्र में सुधार की हिदायत
You Are HereInternational
Saturday, November 02, 2013-11:24 PM

वाशिंगटनः अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इराक को आश्वासन दिया है कि देश में बढ़ते आंतरिक आतंकवादी हमलों से निपटने में अमेरिका उसकी मदद करेगा लेकिन अमेरिका दौरे पर आए इराकी प्रधानमंत्री नूरी अल-मलिकी से उन्होंने साफ कहा है कि वह अपने लोकतंत्र को समावेशी बनाए।

दोनों सरकारों द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडल इस बात पर सहमत थे कि इराक में जारी सुन्नी हिंसा को तुरंत रोकने के लिए इराकी सेना को ऐसे उपकरणों की जरूरत है जिसकी मदद से वह दूर-दराज के इलाकों में सैन्य अभियान चला सके, लेकिन अमेरिका ने इसमें सैन्य मदद का आश्वासन नहीं दिया है। इराक चाहता है कि आतंकवादियों के खिलाफ लड़ाई के लिए अमेरिका उसे अपाचे हेलीकाप्टर दे, लेकिन ह्वाइट हाउस की ओर से जारी बयान में इसका जिक्र तक नहीं किया गया।

श्री नूरी के साथ वार्ता के बाद श्री ओबामा ने कहा, हमने इस बात पर काफी चर्चा की कि उन आतंकवादी संगठनों का मुकाबला करने के लिए हम कैसे एक साथ मिलकर काम कर सकते हैं, जो इराक ही नहीं, पूरे क्षेत्र और अमेरिका के लिए खतरा बने हुये हैं। श्री ओबामा ने इराक के लोकतंत्र को समावेशी बनाने के लिए चुनाव संबंधी कानून बनाने और अगले साल स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने की बात भी कही ताकि लोग अपने मतभेदों के समाधान के लिए राजनीतिक रास्ता अपनाएं न कि हिंसा का।

अमेरिकी सेना के इराक से हटने के बाद से वहां शियाओं पर हमले बढ़ गए हैं। विशेषकर पड़ोसी सीरिया में पिछले दो साल से जारी गृहयुद्ध के कारण स्थिति और खराब हो गई है। इन हमलों में हर महीने लगभग एक हजार निर्दोष लोगों की जान जा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You