मां ने कहा, बेटी को मिले मलाला जैसा इलाज

  • मां ने कहा, बेटी को मिले मलाला जैसा इलाज
You Are HereInternational
Friday, November 08, 2013-5:27 PM

कराची: कराची के एक स्कूल में आतंकी हमले में पक्षाघात की शिकार हो गई एक लड़की के परिवार वालों ने पाकिस्तान सरकार से आग्रह किया है कि पीड़ित को वैसा ही इलाज और महत्व दिया जाए जैसा मलाला युसूफजई को दिया गया था। कराची में बलदिया शहर के नेशन स्कूल में अज्ञात आतंकवादियों द्वारा फेंके गए हथगोले में 11 वर्षीय आतिया अरशद खान सहित कई स्कूली बच्चे घायल हो गए थे।
 
आतिया की मां अमना बीबी ने बताया, ‘‘मेरी बेटी मलाला से प्रेरित है। किस्मत की बात है। मार्च में उसके स्कूल पर हुए आतंकवादी हमले में वह घायल हो गई थी और अब वह व्हीलचेयर पर है। पक्षाघात के कारण आतिया चल नहीं पाती, लेकिन व्हीलचेयर पर होने के बावजूद वह पढऩे जाती है।’’ अमना बीबी ने बताया कि आतिया मलाला का अनुसरण करते हुए अपनी पढ़ाई जारी रखना चाहती हैं।
 
आतिया ने बताया, ‘‘मलाला एक बहादुर लड़की है और वह मुझे अच्छी लगती है। वह शिक्षा का महत्व समझती है। यही वजह है कि हमले और बीमारी के बावजूद मैंने स्कूल जाना शुरू कर दिया है।’’ गौरतलब है कि अक्तूबर 2012 में मलाला युसूफजई को मारने के लिए तालिबानी बंदूकधारियों ने उस पर गोलियां चलाई थीं। हमले में वह गंभीर रूप से घायल हो गई थी। तब वह स्कूल बस से अपने घर लौट रही थी। 16 वर्षीय मलाला ने लड़कियों की पढ़ाई के लिए अभियान चलाया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You