कैमरन चीन की यात्रा पर, तिब्बत की आजादी का किया विरोध

  • कैमरन चीन की यात्रा पर, तिब्बत की आजादी का किया विरोध
You Are HereInternational
Tuesday, December 03, 2013-12:42 AM

बीजिंग: दलाई लामा के साथ विवादित बैठक के बाद बीजिंग से संबंध सुधारने की यात्रा पर आए ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने आज चीन के साथ परमाणु उर्जा और हाईस्पीड ट्रेन से जुड़े समझौतों में ‘सफलता’ हासिल की और तिब्बत की आजादी का विरोध किया।

सरकारी ‘शिन्हुआ’ समाचार एजेंसी के मुताबिक, चीन के प्रधानमंत्री ली क्विंग ने ब्रिटेन के साथ राजनीतिक और आर्थिक संबंध बेहतर बनाने के प्रति प्रतिबद्धता जताई। वहीं कैमरन ने तिब्बत की आजादी का विरोध किया। रिपोर्ट में कहा गया है कि कैमरन ने कहा कि ब्रिटेन चीन की संप्रभुता और क्षेत्रीय अखंडता का सम्मान करता है। तिब्बत को चीन के हिस्से के तौर पर देखता है और मुक्त तिब्बत का समर्थन नहीं करता।

कैमरन से बात करने के बाद चीन के प्रधानमंत्री ली क्विंग ने कहा कि दोनों देश परमाणु उर्जा और हाईस्पीड रेल के क्षेत्रों में ‘आगे बढने’ पर सहमत हुए हैं। ली ने कहा कि बातचीत ‘काफी उपयोगी’ रही और ब्रिटेन तथा चीन एक दूसरे के विकास में जरूरी साथी रहे हैं। उन्होंने कहा कि आधारभूत ढांचे पर, दोनों देश परमाणु उर्जा और हाईस्पीड रेलवे में हमारे उद्यम में सहयोग में प्रगति के लिए प्रयास करने पर सहमत हुए। गौरतलब है कि वर्ष 2012 में निर्वासित तिब्बती आध्यात्मिक गुरू दलाई लामा से कैमरन की बैठक की बीजिंग द्वारा निंदा की गई थी और इस वजह से चीन के साथ राजनयिक गतिरोध पैदा हो गया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You