थाईलैंडः प्रधानमंत्री ने पद छोडऩे का अल्टीमेटम ठुकराया, ताजा झड़पें

  • थाईलैंडः प्रधानमंत्री ने पद छोडऩे का अल्टीमेटम ठुकराया, ताजा झड़पें
You Are HereInternational
Monday, December 02, 2013-11:46 PM

बैंकाक: संकटों में घिरीं थाईलैंड की प्रधानमंत्री यिंगलक शिनावात्रा ने आज विपक्ष द्वारा पद छोडऩे की मांग को खारिज कर दिया। प्रधानमंत्री को पद से हटाने के लिए दबाव बनाने में जुटे विपक्ष के समर्थकों की सुरक्षा बलों से झड़प हो गई।

उधर, एक अदालत ने सरकार गिराने के लिए ‘बगावत’ करने वाले एक शीर्ष विपक्षी नेता के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया। विपक्ष के दो दिन में पद छोडऩे और सत्ता गैरनिर्वाचित ‘पीपुल्स काउंसिल’ को सौंपने के अल्टीमेटम के बीच यिंगलक ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मैं सभी से समाधान खोजने के लिए प्रयास करने के लिए कहती हूं लेकिन यह कानून के दायरे में होना चाहिए।

यिंगलक ने कहा कि सरकारी विरोधी प्रदर्शनों के नेता सुथेप की जनादेश वापस करने और जनता का परिषद स्थापित करने की मांग संविधान के तहत असंभव है। पुलिस ने यिंगलक को सत्ता से हटाने के प्रयास में आज दूसरे दिन गवर्मेंट हाउस और मेट्रोपोलिटन पुलिस ब्यूरो जाने की कोशिश कर रहे सैकड़ों सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस के गोले छोड़े, रबड़ की गोलियां चलाईं और पानी की बौछार की।

प्रधानमंत्री ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘मैं कोई शर्त नहीं रखूंगी। अगर मैं शांति लौटाने के लिए कुछ करने में सक्षम हूं, मैं वह करना चाहूंगी लेकिन यह संविधान के प्रावधानों के तहत होना चाहिए।’’ यिंगलक ने कहा कि कृपया मुझे समझिए। मुझे नहीं पता कि मैं संवैधानिक ढांचे में किस कानून के तहत जनता की परिषद की मांग पूरी करूं। इन प्रदर्शनों के बीच, एक अदालत ने सरकार गिराने का प्रयास करने पर ‘बगावत’ के लिए प्रदर्शनकारियों के नेता और डेमोक्रेटिक पार्टी के पूर्व सांसद सुथेप के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया।

सरकार विरोधी प्रदर्शनकारी यिंगलक से पद छोडऩे की मांग कर रहे हैं और प्रदर्शनकारियों के नेता तथा विपक्षी डेमोक्रेट पार्टी के पूर्व सांसद सुथेप थाउग्सुबन ने कल देर रात कहा कि यिंगलक अगले ‘दो दिन’ में इस्तीफा दें। उन्होंने सेना, नौसेना और वायुसेना के कमांडरों की उपस्थिति में कल यहां हुई बैठक में यिंगलक को अल्टीमेटम दिया। यिंगलक ने कहा कि मुझे नहीं पता कि सुथेप की मांग कानून के तहत कैसे लागू हो। मैं फिर से पुष्टि करती हूं कि मैंने साझा समाधान खोजने के लिए सभी मार्ग खोले हैं। मैंने हर समय वार्ता के लिए रास्ते खोल रखे हैं।

प्रदर्शनकारी वर्तमान सरकार की जगह गैरनिर्वाचित ‘पीपुल्स काउंसिल’ स्थापित करना चाहते हैं। उनका आरोप है कि यिंगलक की सरकार का नियंत्रण उनके भाई और अपदस्थ नेता थाकसिन शिनवात्रा के हाथों में है। थाकसिन वर्ष 2006 में सैन्य तख्तापलट में अपदस्थ हुए थे। थाईलैंड के राजनीतिक संकट में सरकार विरोधी प्रदर्शनों में चार लोगों की मौत हुई है और सौ से अधिक घायल हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You