अब खाने-पीने की चीजों की डिलीवरी करेगा ड्रोन विमान!

  • अब खाने-पीने की चीजों की डिलीवरी करेगा ड्रोन विमान!
You Are HereInternational
Tuesday, December 03, 2013-12:06 PM

न्यूयार्क: सोचिए, अगर एक मानवरहित विमान आपके घर आकर खाने -पीने की चीजों की डिलीवरी करे तो कैसा रहेगा? कुछ ऐसा ही योजना अमेजन कंपनी बना रही है। ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस ने बताया है कि अमेजन एक ऐसे ड्रोन विमान का परीक्षण कर रही है, जो ग्राहकों के घर तक सामान को पहुँचाएगा। इस ड्रोन विमान नाम 'ऑक्टोकॉप्टर' रखा गया है।

यह ड्रोन विमान ग्राहक से ऑर्डर मिलने के 30 मिनट के अंदर 2.3 किलोग्राम वज़न तक के सामान घर पर पहुंचा सकते हैं। हालांकि बेज़ोस ने यह भी बताया कि इस सेवा के शुरू होने में पांच साल तक लग सकते हैं। एक अमेरिकी टेलीविजन कार्यक्रम "60 मिनट्स" के लिए बातचीत के दौरान बेजोस ने यह बात कही है।

बेजोस ने कहा, "मुझे पता है कि यह सब विज्ञान कल्पना की तरह है, लेकिन ऐसा नहीं है। हम आधे घंटे में सामान पहुंचा सकते हैं। हमें लगता है कि पांच पौंड तक के सामान ले जाए जा सकते हैं, हम जो सामान बेचते हैं उनमें से 86% सामान करीब इतने ही वज़न के होते हैं।"

मंज़ूरी का इंतज़ार
इस सेवा को प्राइम एयर कहा जाएगा। इस की बात ऐसे समय हो रही है जब अमेज़न आगे बढ़ने के लिए दक्षता सुधारने पर काम कर रही है। अमेज़न ने वेबसाइट पर एक वीडियो भी डाला है, जिसमे एक ड्रोन विमान इसके एक गोदाम से ग्राहक के घर पर सामान पहुंचाते हुए दिखाया गया है। हालांकि इसे अभी अमेरिकी नियामकों से मंज़ूरी का इंतज़ार है। अमेरिकी सरकार ने अभी तक विमानरहित ड्रोन के नागरिक इस्तेमाल की मंज़ूरी नहीं दी है।

अमेरिकी संघीय उड्डयन प्रशासन (एफ़एए) ने ड्रोन के पुलिस और दूसरी सरकारी एजेंसियों के इस्तेमाल की मंज़ूरी दी है। पिछले कुछ सालों में लगभग1400 परमिट जारी किए हैं। 2015 तक अमेरिका में नागरिक उड्डयन क्षेत्र सभी तरह के ड्रोन के लिए खोला जा सकता है, जबकि यूरोप में यह 2016 तक संभव है। सेंट्रल लैंकाशर विश्वविद्यालय के ड्रोन विशेषज्ञ डॉक्टर डैरन ऐंसल कहते हैं, "अभी नियम मौजूद हैं, जिनसे ज़मीन पर मौजूद लोगों को चोट की संभावना कम से कम हो।"

आशंकाएं
ऐंसल के अनुसार, "मानवरहित विमानों को अपने वातावरण की जानकारी नहीं होती ताकि वह लोगों से न टकराएं। मानवरहित विमानों सामान पहुंचाने के लिए घनी आबादी वाले रिहायशी इलाकों से उड़ना होगा, जिसकी मौजूदा नियम इजाज़त नहीं देते। इसके अलावा सामान की सुरक्षा पर भी ध्यान देने की ज़रूरत है। क्योंकि सुरक्षा न होने में सामान और ड्रोन को कब्ज़े में लिया जा सकता है या चुराया जा सकता है।"

अमेज़न ने कहा है, "तकनीक के नज़रिए से देखें तो जैसे ही नियम तैयार होते हैं हम व्यावसायिक सेवाएं शुरू कर सकेंगे। मानवरहित विमानों के लिए नियम बनाने में सक्रिय है" और उसे साल 2015 तक मंज़ूरी मिलने की उम्मीद है।

ऑस्ट्रेलिया में नियम मानवरहित विमानों के व्यावसायिक इस्तेमाल की इजाज़त देते हैं। इससे पहले किताबें किराए पर देने वाली ऑस्ट्रेलियाई कंपनी ज़ूकाल ने यह घोषणा की थी कि वह अगर उसे ऑस्ट्रेलिया की नागरिक उड्डयन सुरक्षा अथॉरिटी से मंज़ूरी मिल गई तो साल 2015 तक वह किताबें पहुंचाने में ड्रोन का इस्तेमाल करने लगेगी।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You