तालिबान ने करजई की प्रशंसा की

  • तालिबान ने करजई की प्रशंसा की
You Are HereInternational
Wednesday, December 04, 2013-12:27 AM

काबुलः अमेरिका के साथ सुरक्षा समझौते पर हस्ताक्षर करने में विलंब करने के कारण तालिबान आतंकवादियों ने मंगलवार को एक बयान जारी कर अफगानिस्तान के राष्ट्रपति हामिद करजई की प्रशंसा की।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार बयान में कहा गया है कि समझौते पर हस्ताक्षर के लिए करजई द्वारा सशर्त विरोध से स्पष्ट है कि वह अफगान लोगों की मांग को महसूस कर रहे हैं, जो हमलावर फौजों का प्रतिरोध कर रहे हैं। अफगान कभी भी अपनी धरती पर विदेशी फौजों को स्वीकार नहीं कर सकते हैं। तालिबान ने विदेशी फौजों की अफगानिस्तान में उपस्थिति को देश के संकट का प्रमुख कारण बताया और अमेरिकी फौजों की देश से पूर्ण वापसी को कहा।

बहरहाल, करजई ने कहा है कि वह 5 अप्रैल, 2014 को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के पहले समझौते पर हस्ताक्षर नहीं करेंगे। उधर अमेरिका का कहना है कि यदि करजई ने 2013 के अंत तक समझौते पर हस्ताक्षर नहीं किए तो इससे अफगानिस्तान को अमेरिकी और उसके सहयोगियों का समर्थन प्रभावित होगा। इससे पहले एक अन्य असंतुष्ट नेता गुलबुद्दीन हिकमतयार ने सुरक्षा समझौते पर हस्ताक्षर नहीं करने के लिए करजई की प्रशंसा की और उसे पूरी तरह खारिज करने को कहा। हिकमतयार के लड़ाके अफगान सरकार और नाटो के नेतृत्व वाली पश्चिमी सेनाओं से लड़ रहे हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You