आखिर क्यों चाहती है शुक्राणुओं को सुरक्षित रखना !

  • आखिर क्यों चाहती है शुक्राणुओं को सुरक्षित रखना !
You Are HereInternational
Saturday, December 07, 2013-4:26 PM

लंदन: ब्रिटेन की ह्यूमन फ़र्टिलाइज़ेशन एंड एंब्रियोलॉजी अथॉरिटी ने बेथ वॉरेन को बताया है कि अप्रैल 2015 तक उनके पति के शुक्राणुओं को सुरक्षित नहीं रखा जा सकता। बेथ के पति वॉरेन ब्रूअर एक स्की इंस्ट्रक्टर थे और फ़रवरी 2012 में उनकी ब्रेन ट्यूमर की वजह से मौत हो गई थी।

वॉरेन ब्रूअर के शुक्राणुओं को इलाज शुरू होने से पहले बर्फ़ में सुरक्षित रख लिया गया था और उन्होंने यह साफ़ कर दिया था कि उनकी पत्नी को उनके मरने के बाद शुक्राणुओं का इस्तेमाल करने की इजाज़त दी जानी चाहिए। आठ साल से बेथ और वॉरेन साथ रह रहे थे और वॉरेन की मौत से छह हफ़्ते पहले ही उन्होंने शादी की थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You