मोटापा नहीं, इनकी चर्चा की है कुछ और ही वजह

  • मोटापा नहीं, इनकी चर्चा की है कुछ और ही वजह
You Are HereInternational
Saturday, December 07, 2013-4:53 PM

नई दिल्ली: अपने भारी भरकम शरीर के कारण यह महिला 'हाफ टन किलर' के रूप में जानी जाती है, उसने इस बात का खुलासा किया है कि एक बच्चे की हत्या का गुनाह उसने क्यों कबूल किया था। 33 वर्षीय और 466 किलो वजन की मायरा रोजालेस ने कहा, ''मै अपनी बहन को बचाना चाहती थी, क्योंकि मैं वैसे भी मरने वाली थी। मुझे नहीं लगता कि ऐसा कर मैं कुछ गलत कर रही थी।''

साल 2008 में मायरा रोजालेस पर अपनी बहन के बेटे की हत्या का आरोप लगा था। तब रोजालेस का वजन 1028 पौंड यानी 466 किलोग्राम था। तब उसने बयान दिया था कि वह अपनी बहन के दो वर्ष के बेटे एलिसो जूनियर पर गलती से गिर गई थी और कुचले जाने के कारण उसकी मौत हो गई। लेकिन उसका बयान सबूतों से मेल नहीं खाया।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ था कि बच्चे की मौत चोट लगने से हुई है। रोजालेस ने इस बात को स्वीकार किया कि उसने अपनी बहन जैमी को बचाने के लिए हत्या की बात स्वीकार की थी जबकि हत्या उसकी बहन ने ही की थी। अदालत ने रोजालेस पर लगाए गए आरोप को ख़ारिज करते हुए जैमी को 15 साल की कैद की सजा सुनाई।

रोजालेस ने बताया कि उसने ऐसा अपनी बहन को जेल जाने से बचाने के लिए किया, ताकि दूसरे बच्चे को मां का प्यार मिल सके। जब वह आरोप से बरी हो गई, तब उसने अपना वजन घटाने की कोशिशे भी शुरू कर दीं। अब उसका वजन घटकर लगभग 200 पौंड यानी करीब 90 किलोग्राम हो गया है। उसने बताया कि वह डाइट पर है और डायटीशियन की सलाह से ही खाती-पीती है। इसके अलावा ट्यूमर और चर्बी हटाने लिए उसने सर्जरी भी कराई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You