आज 90 से ज्‍यादा देशों के प्रमुख देंगे ‘मदीबा’ को श्रद्धांजलि

  • आज 90 से ज्‍यादा देशों के प्रमुख देंगे ‘मदीबा’ को श्रद्धांजलि
You Are HereInternational
Tuesday, December 10, 2013-11:01 AM

नई दिल्ली: दक्षिण अफ्रीका के पहले अश्वेत राष्ट्रपति और रंगभेद के खिलाफ आंदोलन चलाने वाले नेल्सन मंडेला को श्रद्धांजलि देने 90 से ज्‍यादा देशों के प्रमुख भाग लेंगे। भारत के राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी और कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी भी ‘मदीबा’ को जोहानिसबर्ग में श्रद्धांजलि देंगे। सोमवार को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ मंडेला को श्रद्धांजलि देने के लिए दक्षिण अफ्रीका के लिए रवाना हो गए।

राष्ट्रपति ने रवाना होते समय कहा कि वह जोहानिसबर्ग के लिए दुख के साथ रवाना हो रहे हैं, जहां दिवंगत महान नेता नेल्सन मंडेला की अंतिम संस्कार होगा। गत गुरुवार को मंडेला का 95 वर्ष की आयु में लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया था। भारतीय प्रतिनिधिमंडल का अंतिम संस्कार में शामिल होना दक्षिण अफ्रीकी नेता के भारत के प्रति प्रेम को सम्मान देने का प्रतीक है। प्रतिनिधिमंडल दक्षिण अफ्रीका की सरकार के प्रति संवेदना प्रकट करते हुए उन्हें यह एहसास दिलाएगा कि मंडेला के महाप्रयाण से भारत किस तरह अपूर्णीय क्षति का अनुभव कर रहा है। नेल्सन मंडेला 1994 से 1999 तक दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति रहे थे।

इस अंतिम संस्कार में राष्ट्रपति और सोनिया के अतिरिक्त वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री आनंद शर्मा, लोकसभा में प्रतिपक्ष की नेता सुषमा स्वराज, मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी सांसद सीताराम येचुरी और बहुजन समाज पार्टी के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा तथा सरकार के कई वरिष्ठ अधिकारी शामिल हैं।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You