मानव सभ्यता का अंत लिखेगा भारत पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध

  • मानव सभ्यता का अंत लिखेगा भारत पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध
You Are HereInternational
Tuesday, December 10, 2013-9:53 PM

न्यूयार्क : परमाणु हथियार संपन्न पडोसी देशों भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी नियंत्रण रेखा पर तनातनी होती है तो विश्वमंच पर संभावित परमाणु युद्ध का मुद्दा गरमाने लगता है। आमतौर पर यह संभावित युद्ध उतना डरावना नहीं लगता लेकिन जब हमें इसकी विभीषिका का पता चले और जानकारी हो कि यह युद्ध मानव सभ्यता के लिये ताबूत की आखिरी कील साबित होगी तो यह कल्पना भी भयंकर लगने लगेगी।
 
वर्ष 1985 में नोबेल शांति पुरस्कार से नवाजी गयी संस्था इंटरनेशनल फिजिशियन फार द प्रिवेंशन आफ न्यूक्लियक वार (आईपीपीएनडब्ल्यू) तथा अमेरिका की संस्था फिजिशियंस फार सोशल रिस्पांसब्लिटी  ने आज जारी रिपोर्ट न्यूक्लियर फैमाइन टू बिलियन एट रिस्क में बताया है कि  दुनिया भर में परमाणु हथियारों का जितना जखीरा अभी तैयार है अगर उसका एक छोटा सा हिस्सा भी उदाहरण के रूप में अमेरिका और रूस के परमाणु हथियारों के जखीरे का छोटा सा भाग इस्तेमाल किया जायेगा तो मानव सभ्यता खत्म हो सकती है।
 
रिपोर्ट में बताया गया है कि अगर भारत पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध होगा तो उससे दुनिया भर की आबादी का चौथाई हिस्सा अर्थात दो अरब से अधिक लोग भुखमरी के कगार पर होंगे। परमाणु यंद्ध की वजह से वातावरण में आमूलचूल परिवर्तन होगा और फसलें बर्बाद हो जायेंगी। इनकी वजह से दुनिया भर के खाद्य बाजार में गहरा संकट उत्पन्न हो जायेगा। (आईपीपीएनडब्ल्यू) के सहअध्यक्षा और रिपोर्ट बनाने वाले इरा हेलफां ने कहा अभी तक परमाणु युद्ध के परिणाम की भयावहता को कमतर आंका जाता रहा है लेकिन इसका परिणाम अकल्पनीय रूप से भयंकर है। भारत पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध का असर चीन पर होगा और अगर उसकी एक अरब 30 करोड की आबादी अगर प्रभावित होती है तो उसे मानव सभ्यता का अंत माना जा सकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You