विश्व भर के नेताओं ने मंडेला को दी श्रद्धांजलि

  • विश्व भर के नेताओं ने मंडेला को दी श्रद्धांजलि
You Are HereInternational
Wednesday, December 11, 2013-2:40 PM

जोहान्सबर्ग: दक्षिण अफ्रीका के रंगभेद विरोधी आंदोलन के नायक नेल्सन मंडेला को भारत के राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा सहित दुनिया के लगभग 100 वैश्विक नेताओं ने को श्रद्धांजलि देते हुए ‘इतिहास का पुरोधा’ करार दिया।

गत 5 दिसंबर को मंडेला का निधन हो गया था। एफएनबी स्टेडियम में आयोजित शोक सभा में हिंदू पुजारियों की ओर से संस्कृत के श्लोकों का उच्चार किया गया।

ओबामा ने कहा, '‘किसी भी व्यक्ति की प्रशंसा करना मुश्किल होता है और इतिहास के किसी ऐसे पुरोधा के लिए यह करना और भी मुश्किल है, जो एक देश को न्याय की ओर ले गया तथा इस प्रक्रिया में पूरी दुनिया में अरबों लोगों तक पहुंचा। मंडेला ने गांधी की तरह असहयोग आंदोलन का नेतृत्व किया, जिसकी शुरुआत में सफलता की संभावना बहुत कम थी।"

मुखर्जी ने मंडेला को सामाजिक और आर्थिक बदलाव का नायक संबोधित करते हुए कहा, "मंडेला ने अन्याय और असमानता के खिलाफ अपनी तरह का सत्याग्रह किया।"

मुखर्जी और बराक ओबामा सहित 53 से अधिक देशों के राष्ट्राध्यक्ष-शासनाध्यक्ष 95 हजार सीटों की क्षमता वाले एफएनबी स्टेडियम में आयोजित दो घंटे की शोक सभा में शामिल हुए। जहां मंडेला 2010 फुटबॉल विश्वकप के दौरान आखिरी बार बड़े स्तर पर सार्वजनिक रूप से सबके सामने आए थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You