ब्लैकमनी के मामले में भारत दुनिया के टॉप-5 देशों में

  • ब्लैकमनी के मामले में भारत दुनिया के टॉप-5 देशों में
You Are HereInternational
Friday, December 13, 2013-12:02 PM

नई दिल्ली: ब्लैक मनी को लेकर भारत में राजनीति तो बहुत होती है, कई बार आंदोलन भी हुए, लेकिन इसे देश में लाने के लिए कोई ठोस कार्रवाई कभी नहीं की गई। नतीजा देश का अरबों डॉलर आज भी विदेशी बैंकों में पड़ा हुआ है। ब्लैक मनी का मुद्दा आज भी जस का तस बना हुआ है। चुनाव आते ही यह गर्माना शुरू हो जाएगा और फिर पांच साल तक ठंडे बस्ते में पड़ा रहेगा। राजनेता हो या बिजनेसमैन सभी अपनी ब्लैक मनी को छिपाने के लिए उसे विदेशों में जमा कराते हैं। ब्लैक मनी देश से बाहर भेजने के मामले में भारत दुनिया के टॉप 5 देशों में है। जी हां, एक नई रिपोर्ट से यह बात सामने आई है। इसमें कहा गया है कि 2002 से 2011 के बीच भारत ब्लैक मनी का दुनिया में पांचवां सबसे बड़ा एक्सपोर्टर रहा। इस दौरान 343.04 अरब डॉलर के बराबर ब्लैकमनी देश से बाहर भेजी गई। यही नहीं 2011 में तो भारत ने टॉप तीन में जगह बना ली। इस साल 84.93 अरब डॉलर ब्लैकमनी देश से बाहर गई और भारत ब्लैकमनी का तीसरा सबसे बड़ा एक्सपोर्टर बन गया।

विकासशील देशों से 2002-2011 के बीच बाहर गए ब्लैक मनी पर तैयार इस रिपोर्ट को वॉशिंगटन बेस्ड रिसर्च ऐंड एडवोकेसी ऑर्गनाइजेशन ग्लोबल फाइनैंशल इंटीग्रिटी (जीएफआई) ने तैयार किया है। 2011 में विकसित देशों से कुल 946.7 अरब डॉलर की रकम क्राइम, क्रप्शन और टैक्स चोरी के चलते ब्लैक मनी के रूप में देश से बाहर गई। यह रकम 2010 की तुलना में 13.7 फीसदी ज्यादा थी। 2010 में 832.4 अरब डॉलर ब्लैक मनी विकासशील देशों से बाहर गई।

जीएफआई के प्रेजिडेंट रेमंड बेकर के मुताबिक, ब्लैक मनी के दुनिया के टॉप 15 एक्सपोर्टरों में से 6 एशियाई देश हैं, ये हैं - चीन, मलेशिया, भारत, इंडोनेशिया, थाइलैंड और फिलिपींस। वहीं अफ्रीका के दो देश नाइजीरिया और साउथ अफ्रीका भी ब्लैक मनी एक्सपोर्ट में काफी आगे हैं। यूरोप के चार देश- रूस, बेलारूस, पोलैंड और सर्बिया भी इस लिस्ट में शामिल हैं। पश्चिमी गोलार्द्ध से दो देश- मेक्सिको और ब्राजील हैं। वहीं मिडिल ईस्ट और नॉर्थ अफ्रीकी इलाके से सिर्फ एक देश इराक का नाम इसमें शामिल है।

पिछले 10 साल में चीन ब्लैक मनी एक्सपोर्ट करने के मामले में दुनिया में टॉप पोजिशन पर आ चुका है। भारत से ऊपर ब्लैक मनी का एक्सपोर्ट करने वाले देशों में पहले से चौथे स्थान पर क्रमश: चीन (107.56 अरब डॉलर), रूस (88.10 अरब डॉलर), मेक्सिको (46.19 अरब डॉलर) और मलेशिया (37.04 अरब डॉलर) हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You