दफनाया गया मुल्ला का शव, हिंसा में 5 की मौत

  • दफनाया गया मुल्ला का शव, हिंसा में 5 की मौत
You Are HereInternational
Saturday, December 14, 2013-2:06 AM

ढाका: फांसी मिलने के बाद जमात-ए-इस्लामी के वरिष्ठ नेता अब्दुल कादिर मुल्ला का शव आज उनके गृह नगर में दफनाया गया, जिसके साथ ही बांग्लादेश में जमात-ए-इस्लामी के आक्रोशित कार्यकर्ताओं और आवामी लीग के समर्थकों के बीच हुई हिंसा में कम से कम पांच लोग मारे गए।

1971 की आजादी की लड़ाई में युद्ध अपराधों के लिए फांसी पाने वाले मुल्ला पहले राजनीतिज्ञ हैं। बीडीन्यूज24.कॉम की खबर के अनुसार, फरीदपुर जिले के जिलाधिकारी मोहम्मद मामुन शिबली ने बताया कि सुबह करीब 4 बजकर 20 मिनट पर जिले के अमीराबाद गांव की पुश्तैनी कब्रगाह में उन्हें दफनाया गया। जिलाधिकारी ने मुल्ला को दफनाने की प्रक्रिया की देख-रेख की।

‘मीरपुर के कसाई’ के नाम से प्रसिद्ध 65 वर्षीय जमात-ए-इस्लामी नेता को कल रात फांसी दी गई। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने दिन में उनकी याचिका खारिज कर दी थी। सतखिरा के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जोएब चौधरी ने कहा कि जमात और इसके छात्र संगठन छात्र शिविर के कार्यकर्ताओं ने मुल्ला को फांसी मिलने के बाद जिले के कई इलाकों में आवामी लीग समर्थकों और अल्पसंख्यकों के करीब 50 घरों और व्यवसायिक प्रतिष्ठानों में आगजनी, तोड़-फोड़ और लूट-पाट की।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You